‘सोमवती अमावस्या पर्व पर हजारों की संख्या में श्रद्धालुओं ने देविका में लगाई डुबकी‘

‘सोमवती अमावस्या पर्व पर हजारों की संख्या में श्रद्धालुओं ने देविका में लगाई डुबकी‘
39thousands-of-devotees-take-a-dip-in-devika-on-somavati-amavasya-festival39

12/04/2021 उधमपुर, 12 अप्रैल(हि.स.)। सोमवती अमावस्या का पर्व श्रद्धा एवं धूमधाम से मनाया गया। इस अवसर पर लोगों ने उधमपुर में बहने वाली पवित्र देविका नदी जिसे गंगा की बड़ी बहन भी कहा जाता है में स्नान किया तथा वहां स्थित मंदिरों में पूजा अर्चना की। इस अवसर पर महिलाओं ने पीपल के पेड़ की परिक्रमा करने के साथ-साथ गरीबों में दान भी किया। इससे पहले लोग कफ्र्यू लगे होने के उपरांत भी सुबह-सुबह पहुंचने लगे तथा जैसे ही प्रातः 6 बजे कफ्र्यू समाप्त हुआ वहां पर भारी संख्या में लोग पहुंचे तथा उन्होंने वहां स्नान किया। नगर के अन्य मंदिरों में भी लोगों ने पूजा अर्चना की। सोमवती अमावस्या का काफी महत्व है और यह पर्व साल में दो तीन बार ही आता है महिलाएं इसका विशेष रूप से इंतजार करती है कहा जाता है कि सोमवती अमावस्या को बुध, शुक्र, चंद्र, गुरु, और शनि अपनी-अपनी राशियों में रहते हैं। अगर इस दिन कोई अविवाहित स्त्री व्रत करे तो उसे अच्छा वर प्राप्त होता है। इसके साथ ही संतान प्राप्ति के लिए भी यह व्रत बेहद फलदायी होता है। इस दिन भगवान शिव और देवी पार्वती सभी की मनोकामना पूरी करते हैं जो उनकी पूजा करते हैं। इस दिन पितरों का तर्पण भी किया जाता है। ऐसा करने से व्यक्ति को पितरों का आशीर्वाद प्राप्त होता है। इस दिन दान करने से घर में सुख-शांति व खुशहाली आती है। हिन्दुस्थान समाचार/रमेश/बलवान