‘सुभाष स्टेडियम में केवल कुछ ही घंटे लाइटें चलने के कारण खिलाड़ियों तथा सैर करने वालों हो रही भारी परेशानी‘

‘सुभाष स्टेडियम में केवल कुछ ही घंटे लाइटें चलने के कारण खिलाड़ियों तथा सैर करने वालों हो रही भारी परेशानी‘
39due-to-the-lights-running-for-only-a-few-hours-in-subhash-stadium-players-and-walkers-are-facing-a-lot-of-trouble39

उधमपुर, 30 जून (हि.स.)। सुभाष स्टेडियम के बनने तथा इसमें खिलाड़ियों को हर प्रकार की सुविधाएं मिलने का पूरे उधमपुर वासियों को इंतजार है, लेकिन यह सपना पता नहीं अभी और कितने वर्ष पूरा होने की उम्मीद बहुत कम है जबकि जो सुविधा मौजूद भी है उसका लाभ भी खिलाडियों के साथ-साथ सुभाष स्टेडियम में सैर करने वालों को नहीं मिल पा रहा है। जिसको लेकर खिलाड़ियों खासकर सुभाष स्टेडियम में सुबह-शाम सैर करने वालों में काफी रोष है। सुभाष स्टेडियम में लगाई गई लाइटों को लेकर देखने को मिल रहा है कि इसके रखरखाव तथा इनको चलाने का कार्य करने के लिए कर्मचारी भी तैनात हैं लेकिन फिर भी कुछ घंटों के लिए सुभाष स्टेडियम में लगी लाइटों को जलाकर उनको बंद कर कर्मचारी वहां से अपने घरों को भाग जाते हैं जबकि उसके उपरांत पूरे स्टेडियम में अंधेरा छाया रहता है। केवल आसपास चलने वाली स्ट्रीट लाइटांे के सहारे ही सुबह जल्दी सैर करने वाले सैर कर पाते हैं। जबकि सुभाष स्टेडियम अभी पूरी तरह से समतल नहीं होने तथा वहां पर उगी झाडियों को नहीं हटाने के कारण यही डर बना रहता है कि कहीं कोई सांप या अन्य कीड़ा या फिर गड्ढ़ों के कारण किसी दुर्घटना का शिकार न होना पड़े। वहीं दूसरी ओर लाइट नहीं होने के कारण आबारा कुत्तों का भी जमावड़ा स्टेडियम में लगा रहता है, जिससे सैर करने वालों को डर-डर कर सैर करना पड़ती है। लाइटों को लेकर पहले भी कई बार संबंधित पार्षद यहां तक कि कांगे्रस वरिष्ठ नेता सुमित मंगोत्रा आबाज उठा चुके हैं लेकिन कर्मचारियों की कार्यप्रणाली पर जूं तक नहीं रेंगी तथा आज भी वही पुरानी स्थिति बनी हुई है। शहर वासियों का कहना था कि एक तो कोरोना महामारी ने पूरी तरह से लोगों की जिदंगी बदल कर रख दी है। लोगों को घरों पर रहने को मजबूर कर दिया है और जो उन्हें थोड़ा सैर करने का मौका मिल पाता है उसमें भी कई असुविधाओं का सामना करना पड़ रहा है। शहर वासियों खासकर सैर करने वालों ने जिलाधीश तथा खेल विभाग से इसका कड़ा संज्ञान लेने तथा खुद इसका औचक निरीक्षण करने की मांग की ताकि सही स्थिति का पता चल सके और उचित कार्रवाई हो सके ताकि कर्मचारियों की कार्यप्रणाली में सुधार आ सके। हिन्दुस्थान समाचार/रमेश/बलवान ------------

अन्य खबरें

No stories found.