‘जिला अस्पताल की कार्यप्रणाली के कारण कोरोना टैस्ट करवाने वालों को होना पड़ रहा है परेशान: मंगोत्रा

‘जिला अस्पताल की कार्यप्रणाली के कारण कोरोना टैस्ट करवाने वालों को होना पड़ रहा है परेशान: मंगोत्रा
39due-to-the-functioning-of-the-district-hospital-those-who-get-corona-test-are-worried-mangotra

उधमपुर, 2 मई(हि.स.)। जिला अस्पताल की नालायकी एक बार फिर आई सामने एक व्यक्ति का दो बार करोना टैस्ट नेगेटिव आने के बाद उसको पॉजिटिव बताकर परेशान किया गया। उक्त बातें कांग्रेस के सीनियर नेता सुमित मंगोत्रा द्वारा एक प्रैस वार्ता के दौरान कहीं। उन्होंने जिला अस्पताल की कार्यप्रणाली पर प्रश्नचिन्ह लगाए कहा कि बंसीलाल नामक व्यक्ति जो कि कुछ रोज पहले जम्मू कश्मीर से बाहर गया हुआ था और 28 को उधमपुर में पहुंचने के बाद उन्होंने अपना जिला अस्पताल से कोरोना टैस्ट करवाया था। जिसकी रिपोर्ट नेगेटिव आई। उसके बाद बंसीलाल ने अपना चेकअप करवाने जम्मू मैडिकल कॉलेज गए लेकिन बड़ी हैरानी की बात है कि वह अपने 8 वर्षीय बच्चे के साथ बख्शीनगर पहुंचे। वहां पर उनको जिला अस्पताल के से फोन आता है कि आपकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई है आप जल्दी वापिस आइए और जिला अस्पताल में रिपोर्ट कीजिए। बंसीलाल जोकि बस के ना चलने के कारण बहुत मुश्किल से किसी को पैसे देकर जम्मू अस्पताल पहुंचे हैं लेकिन उनको उधमपुर वापस आना पड़ा और जब उन्होंने फिर से आरटी पीसीआर टेस्ट करवाया। जहां भी रिपोर्ट उनकी नैगेटिव आई है। मंगोत्रा का कहना था जिस महिला ने अस्पताल से उनको फोन किया था उनका कहना था कि हमसे गलती हो गई। मंगोत्रा ने जिला प्रशासन से सवाल करते हुए कहा कि आम आदमी को बिना मास्क पहनने पर 500 रूपए फाइन किया जाता है, दुकानदारों के खिलाफ कार्रवाई की जाती है लेकिन जिला अस्पताल द्वारा जिन लोगों की गलती से गरीब आदमी को इतनी हैरासमेैट हुई उनके लिए कौन सा कानून लागू होगा। उन्होंने जिला प्रशासन से यह मांग करते हैं कि जिससे भी इतनी बड़ी लापरवाही हुई है उसके खिलाफ जिला प्रशासन कड़ी कार्रवाई करे। वहीं मगोत्रा ने उधमपुर के लोगों से अपील करते हुए कहा कि लोग अपने-अपने घरों में रहे बिना मास्क और जरूरी काम के बिना घरों से बाहर ना आएं। हिन्दुस्थान समाचार/रमेश/बलवान