सांबा जिले के विभिन्न क्षेत्रों में सख्ती से लागू किया गया लॉकडाउन
सांबा जिले के विभिन्न क्षेत्रों में सख्ती से लागू किया गया लॉकडाउन
जम्मू-कश्मीर

सांबा जिले के विभिन्न क्षेत्रों में सख्ती से लागू किया गया लॉकडाउन

news

सांबा, 23 जुलाई (हि.स.)। सांबा जिले की विभिन्न तहसीलों में गुरूवार को लॉकडाउन की पाबंधियों को सख्ती से लागू किया गया। जिले में कोरोना पॉजीटिव के मामलों की बढ़ती संख्या को देखते हुए तहसील सांबा, बड़ी ब्राह्मणा घगवाल ओर विजयपुर में लॉकडाउन को लागू किया है। विजयपुर तहसील में कुछ दिन पहले ही लॉकडाउन लागू कर दिया गया था जबकि सांबा के उपायुक्त रोहित खजुरिया ने जिले की सांबा, घगवाल और बडी बा्रह्मणा तहसीलों में कल पूर्ण लॉकडाउन लागू करने का आदेश जारी कर दिया था जो 26 जुलाई तक जारी रहेगा। जिले में लॉकडाउन में ढील के बाद कोरोना पॉजीटिव के मामलों की संख्या में काफी वृद्धि हुई है जिसके चलते सांबा के उपायुक्त रोहित खजुरिया ने लॉकडाउन लागू करने का आदेश जारी किया हे ताकि कोरोना वायरस को फैलने से रोका जा सके। लॉकडाउन के दोरान आवश्यक सेवाओं की दुकानें अर्थात डॉक्टर क्लीनिक, केमिस्ट शॉप, होम्योपैथी की दुकानें, आयुर्वेदिक दुकानें, परीक्षण प्रयोगशाला ही खुलीं। इनका समय सुबह 9 बजे से शाम 8 बजे तक निर्धारित किया गया है। जबकि किराना दुकानें, दूध की दुकानें, बेकरी की दुकानें, फल और सब्जी की दुकानें सुबह 7 से दोपहर 12 बजे तक खुली रहीं। पुलिसकर्मी और अन्य सुरक्षाकर्मी बिना मास्क और बिना किसी काम के अपने घरों से बाहर निकलने वालों के साथ सख्ती से पेश आ रहे थे जबकि कई स्थानों पर कंटीली तारें भी बिछा दी गई थीं ताकि लॉकडाउन को पूरी तरह से लागू किया जा सके। जिला प्रशासन ने चेतावनीदी हे कि आदेशों का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जायेगी। वहीं, विजयपुर के सरकारी अस्पताल में एक नर्स के कोरोना पॉजीटिव आने के बाद से अस्पताल को दो दिनों के लिए सील कर दिया गया है। वहीं कस्बा की मंडी गढ के एक बैंक कर्मचारी के कोरोना पॉजिटिव आने से मंडी को सैनीटाईज किया गया है। उधर जिस नीजि बैंक मंे वह काम कर रहा है बैंक को सील कर दिया गया है। जिला मुख्यालय नंदनी में सेलस टैक्स कार्यालय के एक कर्मी के कोरोना पॉजिटिव आने से कार्यालय को सील कर दिया गया है। जिले में सबसे पहला मामला सपवाल में एक सैनिक का सामने आया था जो अपने घर छुट्टी काटने के लिए आया था। इसके बाद सपवाल गांव में को सील कर दिया गया था। हिन्दुस्थान समाचार/अमरीक/बलवान-hindusthansamachar.in