सरकार द्वारा मात्र 1.81 करोड़ की राहत राशी देकर कलाकार बरादरी के साथ किया भद्दा मजाक- संगीत कलाकार एकता मंच
सरकार द्वारा मात्र 1.81 करोड़ की राहत राशी देकर कलाकार बरादरी के साथ किया भद्दा मजाक- संगीत कलाकार एकता मंच
जम्मू-कश्मीर

सरकार द्वारा मात्र 1.81 करोड़ की राहत राशी देकर कलाकार बरादरी के साथ किया भद्दा मजाक- संगीत कलाकार एकता मंच

news

कठुआ, 22 सितंबर (हि.स.)। संगीत कलाकार एकता मंच द्वारा कठुआ में एक पत्रकार वार्ता का आयोजन किया गया जिसमें उन्होंने बीते दिनों जम्मू-कश्मीर यूटी सरकार के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा द्वारा जारी किए गए आर्थिक पैकेज से नाखुश होकर नाराजगी जाहिर की है। मंच के सदस्यों का कहना है कि सरकार द्वारा मात्र 1.81 करोड़ की राशी देकर कलाकार बरादरी के साथ भद्दा मजाक किया गया है। संगीत एकता कलाकार मंच के सदस्यों ने पत्रकारों को संबोधित करते हुए कहा कि यूटी सरकार द्वारा मात्र 1.81 करोड़ आर्थिक पैकेज देकर संगीत कलाकारों के साथ भद्दा मजाक किया गया है। उन्होंने कहा जम्मू कश्मीर में कुल 10 हजार के करीब संगीत कलाकार हैं और सरकार द्वारा मात्र 3100 कलाकारों को भी चिन्हित किया गया है, जिन्हें 1.81 करोड़ राशि आवंटित की जाएगी। उन्होंने सरकार के इस फैसले की आलोचना करते हुए कहा कि सरकार के इस फैसले से कलाकार बिरादरी नाखुश है। उन्होंने कहा कि जिस प्रकार सरकार द्वारा मात्र 1.81 करोड़ का पैकेज कलाकार बिरादरी के लिए दिया गया है वो ना के बराबर है। उन्होंने कहा कि पूरे जम्मू कश्मीर में 10 हजार के करीब कलाकार हैं और सरकार द्वारा मात्र 3100 कलाकारों को चिन्हित किया गया है, जिन्हें कल्चर अकैडमी से मान्यता प्राप्त है। उन्होंने कहा कि जिला कठुआ में कल्चर एकेडमी की हालत दायनिय है वहां पर बैठने तक की जगह नहीं है और उन्होंने किस प्रकार कलाकारों को चिन्हित किया है जिन्हें राहत राशि आवंटित की जाऐगी। कलाकारों का कहना है कि कलाकार हमेशा सरकार के साथ कंधे से कंधा मिलाकर चले हैं, सरकार की सभी योजनाओं का प्रचार कर लोगों तक पहुंचाने का काम कलाकार ही करते हैं लेकिन इस संकट की घड़ी में सरकार ने उन्हें मात्र पौने दो करोड़ का आर्थिक पैकेज देकर उनके साथ भद्दा मजाक किया है। कलाकारों ने सरकार के इस फैसले का विरोध करते हुए मांग की है कि राहत राशि पौने दो करोड से बढ़ाकर 100 करोड़ की जाए और 3100 कलाकारों की जगह कम से कम 10000 कलाकारों को इस राहत राशि आवंटित सूची में शामिल किया जाए। उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा मात्र एक हजार मासिक भत्ता देने की बात कही है लेकिन आज के इस महंगाई के दौर में एक हजार महीने से मासिक गुजारा नहीं होता है। उन्होंने मांग की है कि कम से कम पांच हजार रूपए मासिक बता कलाकारों को दिया जाए। संगीत कलाकार एकता मंच कठुआ के सदस्यों ने सरकार को चेतावनी देते हुए कहा कि अगर उनकी मांगों पर गौर नहीं किया गया तो उनका धरना प्रदर्शन जारी रहेगा। इस अवसर पर शक्ति बच्चन, धीरज बिसमल, बंटी अलमस्त, नरशोतम माही, जिओ चैहान, विनय जयसमल सहित अन्य मौजूद रहे। हिन्दुस्थानध्समाचारध्सचिलध्बलवान-hindusthansamachar.in