समाज सेवक जंगी ने उठाया केंद्र व रक्षा मंत्रालय के समक्ष मामला, बिहार में चुनाव हो सकते है तो जम्मू कंटोनमैंट बोर्ड के क्यों नहीं
समाज सेवक जंगी ने उठाया केंद्र व रक्षा मंत्रालय के समक्ष मामला, बिहार में चुनाव हो सकते है तो जम्मू कंटोनमैंट बोर्ड के क्यों नहीं
जम्मू-कश्मीर

समाज सेवक जंगी ने उठाया केंद्र व रक्षा मंत्रालय के समक्ष मामला, बिहार में चुनाव हो सकते है तो जम्मू कंटोनमैंट बोर्ड के क्यों नहीं

news

जम्मू 12 सितंबर (हि.स.)। बिहार में चुनाव करवाने के लिए जिस प्रकार से सरकार आमादा है उससे साफ है कि सरकार जमीनी स्तर को लोकतंत्र को बनाये रखने के लिए हर वो प्रयास कर रही है जिससे लोगों का भला हो। लेकिन जम्मू कंटोनमैंट बोर्ड के चुनावों की अनदेखी करके केंद्र सरकार क्या संदेश दे रही है। यह बात बोर्ड क्षेत्र के समाज सेवक रिशी दत्त शर्मा जंगी ने पत्रकारों से बात करते हुए शनिवार को कही। जंगी ने कहा कि जून २०२० में बोर्ड के चुनावों का कार्यकाल समाप्त होने पर इसी माह फिर से चुनाव करवाये जाने थे पर बोर्ड में एक मिलीभगत के तहत चुनावों न करवाकर इसे छह माह के लिए टालने के लिए एक योजनाबद्ध तरीके से निवार्चित इकाई को छह माह की एक्सटेंशन दे दी जबकि यह उस सूरत में हो सकता था जब बोर्ड में जनता द्वारा चुने गए उप चेयरमैन अपने पद पर कायम होते जो कि बीते कई माह पहले ही अपने पद से त्यागपत्र दे चुके हैं। इन हालात में किसी भी सूरत में जम्मू कंटोनमैंट बोर्ड को छह माह का एक्सटेंशन देना उचित नहीं है लेकिन नियमों को ताक पर रखकर बोर्ड में शामिल अधिकारियों ने अपने निजी लाभों के लिए बोर्ड को एक्सटेंशन दिया। जंगी ने कहा कि ऐसे में आज बोर्ड में न तो जनता की सुनवाई हो रही है और न ही बोर्ड द्वारा की जाने वाली बैठकों जिसमें जनता के हित के निर्णय लिए जाते है को लेकर पार्षदों को ही कोई जानकारी मिल रही है और न ही जनता को ही इसकी कोई जानकारी मिल रही है जबकि बोर्ड क्या कर रहा है किसी भी बाहरी को इसकी कोई जानकारी नहीं हैं। ऐसे में हमारी मांग है कि बिहार में अगर कोरोना महामारी के दौरान चुनाव करवाये जा रहे है तो केंद्र सरकार जम्मू कंटोनमैंट बोर्ड के चुनाव भी जल्द से जल्द करवाये जिससे एक बार फिर से जनता द्वारा चुने गए प्रतिनिधि जनसेवा में अपनी भागीदारी को सुनिश्चित कर सकें तो कि मौजूदा समय में पूरी तरह से समाप्त हो चुकी हैं। जंगी ने उप राज्यपाल प्रशासन, केंद्र सरकार व रक्षा मंत्रालय से मांग की है कि वो जम्मू कंटोनमैंट बोर्ड की कार्यप्रणाली पर ध्यान दें आर जहां पर चुनावों को जल्द करवाने हेतु हर संभव प्रयास किया जाएं। हिन्दुस्थान समाचार/मोनिका/बलवान-hindusthansamachar.in