समाजसेवी व लखनपुर नगर परिषद पूर्व अध्यक्ष अरुण शर्मा ने बिहार के दरभंगा जिला की बेटी का मनोबल बढ़ाने के लिए पचास हजार की राशी भेंट की
समाजसेवी व लखनपुर नगर परिषद पूर्व अध्यक्ष अरुण शर्मा ने बिहार के दरभंगा जिला की बेटी का मनोबल बढ़ाने के लिए पचास हजार की राशी भेंट की
जम्मू-कश्मीर

समाजसेवी व लखनपुर नगर परिषद पूर्व अध्यक्ष अरुण शर्मा ने बिहार के दरभंगा जिला की बेटी का मनोबल बढ़ाने के लिए पचास हजार की राशी भेंट की

news

कठुआ, 5 नवंबर (हि.स.)। समाज सेवा कार्यों को जारी रखते हुए लखनपुर नगर परिषद के पूर्व अध्यक्ष अरुण शर्मा उर्फ रंजू जोकि जम्मू-कश्मीर के साथ साथ अन्य राज्यों में भी जाकर गरीब परिवारों की मदद कर रहे हैं। इसी प्रकार अपने समाजसेवी कार्यों को जारी रखते हुए पूर्व अध्यक्ष अरुण शर्मा ने बिहार की एक बेटी का मनोबल बढ़ाने के लिए उसे पचास हजार की राशि भेंट की है। इस अवसर पर अरुण शर्मा ने बताया की कोरोना महामारी के दौरान मई महीने में जिस वक्त कोरोना काल में गरीब प्रवासी लोगों पर मुश्किलों का पहाड़ टूट पड़ा था और वह अपने घरों की ओर पलायन कर रहे थे। उस वक्त बिहार के जिला दरभंगा की एक बेटी ने 1200 किलोमीटर साइकिल चलाकर अपने बीमार पिता को बिहार के जिला दरभंगा के गांव सिरौली तक पहुंचाया था, जिसकी खबर टीवी चैनलों और अखबार के माध्यम से उन तक पहुंची थी। उन्होंने बताया कि बिहार की इस बेटी को मिलने और उसके इस कार्य की सराहना करने के लिए उन्होंने उस वक्त अपने मन में ठान ली थी। उन्होंने बताया कि जैसे ही हालात सुधरे वैसे उन्होंने अपने धर्म पत्नी के साथ बिहार के जिला दरभंगा के गांव सरौली में पहुंचकर बिहार की बेटी ज्योति कुमारी पुत्री मोहन पासवान के घर पर जाकर उसका मनोबल बढ़ाने के लिए उसे पचास हजार की राशि भेंट की। शर्मा ने कहा की इस बेटी ने अपने बीमार पिता को 1200 किलोमीटर साइकिल पर बिठाकर घर पहुंचाया इससे उनके देश का गौरव बढ़ा है। उन्होंने कहा कि अमेरिका के राष्ट्रपति ट्रंप की बेटी ने भी बिहार की बेटी ज्योति के इस कार्य को ट्वीट करके बिहार की बेटी की सराहना की है। उन्होंने कहा कि बिहार में चुनाव का दौर चल रहा है और बहुत जल्द नई सरकार बनने वाली है। उन्होंने नई सरकार से अपील करते हुए कहा की जिस प्रकार बिहार की बेटी ने इस कार्य को अंजाम देकर पूरे देश का नाम और एक बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ और नारी शक्ति को बढ़ावा देकर सराहनीय कार्य किया है। ऐसी बच्चियों के प्रोत्साहन के लिए सरकार उनकी मदद करे। अरुण शर्मा ने बताया कि समाज सेवा करना और गरीबों की मदद करना ही उनका मुख्य लक्ष्य है। उन्होंने कहा की अपने पूरे व्यवसाय की कमाई में से 75 प्रतिशत पैसे अलग खाते में जमा करवाता हूं, जिससे वह इसी प्रकार आए दिन गरीब परिवारों की मदद करते हैं। उन्होंने बताया कि वह किसी भी राजनीतिक पार्टी से ताल्लुक नहीं रखते हैं। वहीं बिहार की बेटी ज्योति और पंचायत के स्थानीय निवासियों ने अरुण शर्मा और उनकी पत्नी का आभार प्रकट किया। हिन्दुस्थान/समाचार/सचिन/बलवान-hindusthansamachar.in