यात्रा मार्ग पर कार्य कर रोजी रोटी कमाने वाले मजदूरों ने किया प्रदर्शन
यात्रा मार्ग पर कार्य कर रोजी रोटी कमाने वाले मजदूरों ने किया प्रदर्शन
जम्मू-कश्मीर

यात्रा मार्ग पर कार्य कर रोजी रोटी कमाने वाले मजदूरों ने किया प्रदर्शन

news

उधमपुर/कटडा, 15 सितम्बर (हि.स.)। वैष्णो देवी यात्रा मार्ग पर कार्य कर रोजी रोटी कमाने वाले मजदूरों ने यात्रा मार्ग पर कार्य करने की अनुमति की मांग को लेकर मंगलवार को योग आश्रम स्थल में एकत्रित होकर प्रदर्शन किया। इस दौरान यात्रा मार्ग पर घोड़ा चलाने वाले व ढ़ोल बजाकर गुजारा करने वाले लोगों ने ढोल बजाकर, थाली बजाकर प्रशासन से यात्रा मार्ग पर उन्हें कार्य करने की अनुमति की मांग की गई। पत्रकारों से बात करते हुए घोड़ा चालक सुरेंद्र कुमार, श्याम लाल, कौशल कुमार, सतपाल, सुनील कुमार, वीरेंद्र कुमार, ओम प्रकाश आदि ने कहा कि कोरोना महामारी को लेकर बीते 18 मार्च को एकाएक मां वैष्णो यात्रा को स्थगित कर दी गयी थी। जिसके बाद से उनका रोजगार भी बंद हो गया था। पर बीते अगस्त माह से केंद्र सरकार द्वारा जारी एसओपी के तहत एक बार फिर वैष्णो देवी यात्रा को शुरू किया जा चुका है लेकिन श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए अभी तक घोड़ा, पिट्ठू अथवा पालकी की सुविधा श्राइन बोर्ड द्वारा शुरू नहीं की गई है, जिससे दर्शनों को आने वाले श्रदालुओं सहित यात्रा मार्ग पर कार्य करने वाले लोगों को भी परेशानी हो रही है। उन्होंने बताया कि इस कोरोना महामारी के 6 महीनों के दौरान कार्य न मिलने से उनका परिवार भूखमरी के कगार पर पहुंच चुका है। वहीं ढ़ोल बजाने वाले मजदूरों ने कहा कि वह भवन मार्ग पर ढ़ोल बजाकर अपने परिवार का गुजर-बसर करते थे परंतु कोरोना महामारी के चलते अभी तक उन्हें श्राइन बोर्ड द्वारा भवन मार्ग पर ढोलक बजाने को लेकर इजाजत नहीं दी गई है, जिससे परिवार का पोषण करने में भारी परेशानियां झेलनी पड़ रही है। मजदूरों ने श्री माता वैष्णो देवी श्राइन बोर्ड सहित जिला प्रशासन से गुहार लगाते हुए कहा कि वे जल्द से जल्द उन्हें भवन मार्ग पर काम करने की इजाजत दें। हिन्दुस्थान समाचार/रमेश/बलवान-hindusthansamachar.in