भूमि और नौकरियों के संवैधानिक और कानूनी सुरक्षा उपायों के लिए संघर्ष तेज करेगी कांग्रेस
भूमि और नौकरियों के संवैधानिक और कानूनी सुरक्षा उपायों के लिए संघर्ष तेज करेगी कांग्रेस
जम्मू-कश्मीर

भूमि और नौकरियों के संवैधानिक और कानूनी सुरक्षा उपायों के लिए संघर्ष तेज करेगी कांग्रेस

news

जम्मू, 28 अक्टूबर (हि.स.)। भाजपा पर लोगों के जनादेश के साथ विश्वासघात करने का आरोप लगाते हुए कांग्रेस ने बुंधवार को कहा कि पार्टी जम्मू और कश्मीर के निवासियों को भूमि और नौकरियों के लिए संवैधानिक और कानूनी सुरक्षा उपायों के साथ पूर्ण राज्य की बहाली के लिए संघर्ष को तेज करेगी। केंद्र और भाजपा के बार-बार आश्वासन के बावजूद गैर निवासियों को भूमि की बिक्री के बारे में कल के आदेश का जायजा लेने के लिए वरिष्ठ नेताओं की एक आज एक बैठक आयोजित की गई। कांग्रेस ने इसे जम्मू व कश्मीर के लोगों के साथ सत्तारूढ़ पार्टी का एक और धोखा करार दिया और जिसमें जम्मू क्षेत्र सबसे ज्यादा पीड़ित होगा। पार्टी ने कहा कि भाजपा ने बार-बार यह आश्वासन दिया कि भूमि और नौकरियों के अधिकारों को कुछ विशेष सुरक्षा उपायों के आधार पर संरक्षित किया जाएगा। यहां तक कि धारा 370 को निरस्त करने के बाद भी, लेकिन अब यह स्पष्ट है कि जम्मू-कश्मीर के लोगों ने ऐतिहासिक राज्य के विघटन से न केवल अपनी पहचान, राजनीतिक और लोकतांत्रिक अधिकार खो दिए हैं बल्कि वे अपनी संस्कृति, संसाधनों और नौकरी और भूमि के अधिकारों को भी खो रहे हैं। इस प्रक्रिया में जम्मू क्षेत्र किसी भी कानूनी और संवैधानिक सुरक्षा उपायों की अनुपस्थिति में आने वाले वर्षों में सबसे अधिक प्रभावित होगा। उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी भूमि और नौकरियों आदि के अधिकारों के लिए पर्याप्त संवैधानिक और कानूनी सुरक्षा उपायों के साथ पूर्ण राज्य की बहाली के लिए लोगों के सहयोग के लिए अपना संघर्ष तेज करेगी। बैठक में डीसीसी और ब्लॉक अध्यक्षों के अलावा पीसीसी के वरिष्ठ पदाधिकारियों, पीसीसी उपाध्यक्ष रमन भल्ला, मुख्य प्रवक्ता रविंदर शर्मा, पूर्व मंत्री और महासचिव, जम्मू जिला के अधिकारियों ने भी भाग लिया। हिन्दुस्थान समाचार/अमरीक/बलवान-hindusthansamachar.in