बकाया वेतन की मांग को लेकर जेपीडीसीएल कैजुअल कर्मियों प्रदर्शन रहा जारी
बकाया वेतन की मांग को लेकर जेपीडीसीएल कैजुअल कर्मियों प्रदर्शन रहा जारी
जम्मू-कश्मीर

बकाया वेतन की मांग को लेकर जेपीडीसीएल कैजुअल कर्मियों प्रदर्शन रहा जारी

news

जम्मू, 14 अक्तूबर (हि.स.)। जम्मू पॉवर डेवलपमेंट कॉरपोरेशन लिमिटेड (जेपीडीसीएल) में कार्यरत कैजुअल कर्मचारियों ने बुधवार को भी पिछले सात वर्ष का बकाया वेतन जारी करने की मांग को लेकर प्रदर्शन किया। जेपीडीसीएल कैजुअल लेबर नीड बेस यूनियन के बैनर तले कर्मचारियों ने सरकार के प्रति नाराजगी जताई है। यूनियन के अध्यक्ष अखिल शर्मा ने बताया कि जेपीडीसीएल में पिछले 15 वर्षों से अधिक समय से 3169 नीड बेस्ड कैजुअल कर्मचारी कार्यरत हैं। इनको आज तक स्थायी नहीं किया गया है। 3169 कर्मचारियों में से 2707 को वेतन की अदायगी की जा रही है, जबकि 462 कर्मचारियों को वेतन की अदायगी नहीं की गई है। 462 में से 408 कर्मचारियों के मामले आज भी प्रबंधक निदेशक के पास लंबित पड़े हैं। जब तक सभी कर्मचारियों का एनआइसी में पंजीकरण नहीं हो जाता तब तक वेतन की अदायगी संभव नहीं है। उन्होंने कहा कि ऐसे में प्रबंधक निदेशक से अपील है कि वह जल्द से जल्द शेष कर्मचारियों के लंबित मामलों के निपटारे के लिए वित्तीय आयोग के समक्ष भेजें ताकि उन्हें बकाया वेतन की अदायगी की जा सके। यूनियन ने मांग की है कि किसी भी श्रेणी का कर्मचारी अगर ड्यूटी के दौरान चोटिल हो जाता है या फिर मर जाता है तो उसके परिजनों को लांभावित करने के लिए एक नीति बनाई जाए। उन्होंने न्यूनतम वेतन 6750 से बढ़ाकर 18500 करने सहित लंबित मामलों के निपटारे व कर्मचारियों को नियमित करने की मांग की है। हिन्दुस्थान समाचार/अमरीक/बलवान-hindusthansamachar.in