प्रभावशाली ठेकेदारों और भू-माफिया की ’ग्रे गोल्ड’ के अवैध खनन में सांठगांठ: हर्ष
प्रभावशाली ठेकेदारों और भू-माफिया की ’ग्रे गोल्ड’ के अवैध खनन में सांठगांठ: हर्ष
जम्मू-कश्मीर

प्रभावशाली ठेकेदारों और भू-माफिया की ’ग्रे गोल्ड’ के अवैध खनन में सांठगांठ: हर्ष

news

जम्मू, 30 जुलाई (हि.स.)। पैंथर्स पार्टी के कार्यकर्ताओं ने बुधवार को बेरोजगार हुए सैकड़ों ट्रैक्टर और ट्रॉली संचालकों की दयनीय दुर्दशा से खफा होकर जम्मू में विरोध प्रदर्शन किया। भाजपा सरकार विरोधी नारे लगाते हुए प्रदर्शनकारियों ने सरकार का पुतला जलाया और जम्मू-कश्मीर प्रशासन पर उन्हें भुखमरी की ओर धकेलने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि प्रभावशाली ठेकेदारों और भू-माफिया की ‘ग्रे गोल्ड’ के अवैध खनन में सांठगांठ है। इस दौरान मीडिया से बात करते हुए पैंथर्स पार्टी के चेयरमैन हर्ष देव सिंह ने उन ट्रैक्टर और ट्रॉली ऑपरेटरों के प्रति उचित रवैया अपनाने की सरकार से मांग की जो नदी और नालों से रेत और बजरी उठाने पर लगाए गए प्रतिबंध को देखते हुए बेरोजगार हो गए हैं। उन्होंने कहा कि रेत और बजरी की मैनुअल लिफ्टिंग पर प्रतिबंध अनुचित है। उन्होंने कहा कि गरीब ट्रेक्टर और ट्रॉली संचालकों को उक्त सामग्रियों को उठाने से रोका जा रहा है जबकि बड़े ठेकेदार और प्रभावशाली भू-माफिया खुलेआम जेसीबी मशीनों को लगाकर कानून को धता बताकर ऐसी सामग्रियों को उठाने और परिवहन करने के लिए नदी और नालों से खनन कर रहे हैं। हर्ष ने स्थानीय प्रशासन और भूविज्ञान और खनन विभाग के अधिकारियों पर बड़े ठेकेदारों के साथ सांठगांठ करने का आरोप लगाया जबकि गरीब ट्रैक्टर ट्रॉली संचालकों को इसके लिए रोका जा रहा है। उन्होंने कहा कि उन्होंने बैंकों से ऋण प्राप्त किया है और उक्त प्रतिबंधों और चल रहे कोरोना महामारी के मद्देनजर उनका व्यापार चौपट होकर रह गया है और इसके मद्देनजर किस्तों का भुगतान करना असंभव हो रहा है। उन्होंने कहा कि एक कल्याणकारी राज्य की बुनियादी बातों को ध्यान में रखते हुए प्रभावित व्यक्तियों के ऋण को सद्भावना के रूप में माफ किया जाना चाहिए। इस गंभीर मुद्दे पर चुप रहने के लिए भाजपा नेताओं को लताड़ लगाते हुए सिंह ने कहा कि ‘ग्रे-गोल्ड’ माफिया ने जम्मू क्षेत्र की कई नदियों और नालों में अवैध खनन को पूरी तरह से नियंत्रित करना जारी रखा है, कई सरकारी परियोजनाएं और आम जनता रेत, बजरी और पत्थरों जैसी निर्माण सामग्री की दरों में हाल के दिनों में दोगुने से अधिक की वृद्धि से प्रभावित हो रही है। खनन गतिविधि पर प्रतिबंध के बावजूद माफिया द्वारा रात और सुबह के समय खनिजों का अवैध निष्कर्षण जारी है। यहां तक कि आसपास के क्षेत्र में जेसीबी संचालक रात में कई घंटों तक अपनी मशीनों का उपयोग करते हैं और रेत और बजरी को निकालते हैं। हिन्दुस्थान समाचार/अमरीक/बलवान-hindusthansamachar.in