पैंथर्स ने प्रशिक्षित फार्मासिस्टों, चिकित्सा सहायकों के समर्थन में किया प्रदर्शन
पैंथर्स ने प्रशिक्षित फार्मासिस्टों, चिकित्सा सहायकों के समर्थन में किया प्रदर्शन
जम्मू-कश्मीर

पैंथर्स ने प्रशिक्षित फार्मासिस्टों, चिकित्सा सहायकों के समर्थन में किया प्रदर्शन

news

जम्मू, 22 सितंबर (हि.स.)। राज्य के पुनर्गठन से पहले अपने कोर्स पूरा करने वाले फार्मासिस्टों और चिकित्सा सहायकों को मान्यता देने से इंकार करने के लिए सरकार पर करारा प्रहार करते हुए जेकेएनपीपी के कार्यकर्ताओं ने प्रभावित उम्मीदवारों के साथ मंगलवार को पार्टी के चेयरमैन हर्ष देव सिंह के नेतृत्व में प्रदर्शन किया। प्रदर्शनकारियों ने जम्मू-कश्मीर केन्द्र शासित प्रदेश के फार्मासिस्टों को पंजीकरण दो, चिकित्सा सहायकों को लाइसेंस प्रदान करने, जम्मू और कश्मीर के फार्मासिस्टों के साथ इंसाफ करने जैसे नारे लगाए। इस दौरान हर्ष देव सिंह ने कहा कि पहले के कानूनों को निरस्त करने के बहाने ऐसे सभी उम्मीदवारों को पंजीकरण और लाइसेंस जारी करने में देरी और इनकार करना बेतुका और हास्यास्पद है। उन्होंने कहा कि 5 अगस्त 2019 से पहले तत्कालीन राज्य के मौजूदा कानूनों के तहत संचालित पाठ्यक्रमों की मान्यता से इनकार करने के लिए यह बहुत अनुचित और अत्याचारपूर्ण कार्य है। उन्होंने कहा कि लगभग 25,000 उम्मीदवारों ने जम्मू-कश्मीर फार्मेसी के तहत अनुच्छेद 370 के उन्मूलन से पहले विभिन्न पैरा-मेडिकल पाठ्यक्रम तत्कालीन राज्य के मान्यता प्राप्त संस्थानों से अधिनियम के तहत पास किए थे। उन्हें जम्मू-कश्मीर सरकार द्वारा पंजीकरण, लाइसेंस से वंचित किया जा रहा है। उन्होंने इस मामले में केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री और मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया के व्यक्तिगत हस्तक्षेप की मांग की। उन्होंने बड़े पैमाने पर प्रदर्शन किया और केंद्र सरकार का पुतला फूंका। इस अवसर पर बोलने वालों में राजेश पडगोत्रा, सुरिंदर चौहान, विपन कुमार, अनीस अहमद, राज प्रताप सिंह, मुख्तार अहमद, मनप्रीत सिंह, सौरव शर्मा, अंकुश कुमार, विष्णु कुमार, सौरव थापा, जावेद इकबाल, अनिल कुमार, उमर फारूक, मोहित शर्मा, रघुबीर सिंह, खजूर सिंह, रविंदर सिंह जम्वाल, राजेश गोंधी, राकेश गुप्ता, यश पॉल शर्मा, रोहित शर्मा, गुरदीप सिंह, राजू, हकीम दीन, कीर्ति फनगोत्रा भी शामिल थे। हिन्दुस्थान समाचार/अमरीक/बलवान-hindusthansamachar.in