पीडब्लूडी विभाग के अस्थाई कर्मियों का धरना प्रदर्शन लगातार जारी, न्यूनतम मजदूरी अधिनियम, वकाया वेतन और नियमित करने की मांग की
पीडब्लूडी विभाग के अस्थाई कर्मियों का धरना प्रदर्शन लगातार जारी, न्यूनतम मजदूरी अधिनियम, वकाया वेतन और नियमित करने की मांग की
जम्मू-कश्मीर

पीडब्लूडी विभाग के अस्थाई कर्मियों का धरना प्रदर्शन लगातार जारी, न्यूनतम मजदूरी अधिनियम, वकाया वेतन और नियमित करने की मांग की

news

कठुआ, 16 अक्तूबर (हि.स.)। ऑल डिपार्टमेंट कैजुअल लेबर युनियन फ्रंट के बैनर तले पीडब्लूडी विभाग के अस्थाई कर्मियों ने अपनी लंबित मांगों को लेकर जम्मू कश्मीर यूटी सरकार के खिलाफ शुक्रवार को भी धरना प्रदर्शन जारी रखा है। प्रदर्शनकारियों ने मांग करते हुए कहा कि जम्मू कश्मीर केंद्र शासित प्रदेश के विभिन्न विभागों में साठ हजार के करीब कैजुअल कर्मचारी अपनी सेवाएं पिछले 20 वर्षों से दे रहे हैं। लेकिन अभी तक कैजुअल कर्मियों को नियमित करने की कोई भी नीति नहीं बनाई गई है। जिसे लेकर आए दिन कर्मचारियों को धरने प्रदर्शन करने पड़ रहे हैं। प्रदर्शनकारियों का कहना है कि एक तो पहले से ही साठ हजार अस्थाई कर्मी पिछले 20 सालों से सेवाएं दे रहे हैं जोकि आज तक नियमित नहीं किए गए और उपर से जम्मू कश्मीर केंद्र शासित प्रदेश सरकार नौकरियां निकालकर लोगों को गुमराह कर रही है। उन्होंने कहा कि अगर सरकार ने नौकरियंा निकालनी ही है तो पहले साठ हजार अस्थाई कर्मचारियों को स्थाई किया जाए। प्रदर्शनकारियों ने कहा कि पीडीपी और भाजपा गठबंधन सरकार के दौरान एसआरओ 520 जारी कर सभी कैजुअल कर्मचारियों को नियमित करने का आश्वासन दिया था लेकिन आज तक एसआरओ 520 सिर्फ फाइलों में ही दबा रह गए हैं। उन्होंने सरकार से मांग की है कि नई भर्तियां करने से पहले सरकार साठ हजार कर्मचारियों को नियमित करें, न्यूनतम मजदूरी अधिनियम लागू करें और वकाया वेतन भी जारी किया जाए।। प्रदर्शनकारियों ने चेतावनी देते हुए कहा कि अगर उनकी मांगों पर गौर नहीं किया गया तो सभी अस्थाई कर्मचारी अपनी हड़ताल जारी रखेंगे। हिन्दुस्थान/समाचार/सचिन/बलवान-hindusthansamachar.in