पंचायतों में ई-टेंडरिंग शुरू हुई तो सड़कों पर उतरेंगे सरपंच
पंचायतों में ई-टेंडरिंग शुरू हुई तो सड़कों पर उतरेंगे सरपंच
जम्मू-कश्मीर

पंचायतों में ई-टेंडरिंग शुरू हुई तो सड़कों पर उतरेंगे सरपंच

news

आर.एस. पुरा, 14 अक्टूबर (हि.स.)। पंचायतों में होने वाले विकास कार्यों को लेकर सरकार द्वारा ई-टेंडरिंग शुरू किए जाने का ब्लॉक आर.एस. पुरा के सरपंचों ने बुधवार को विरोध जताते हुए सरकार को चेतावनी दी है कि अगर सरकार ने पंचायतों में जबरदस्ती ई टेंडरिंग शुरू की तो सरपंच सड़कों पर उतरने के लिए मजबूर हो जाएंगे। आर.एस. पुरा में आयोजित एक पत्रकार वार्ता के दौरान सरपंचों कहा कि सरकार पंचायतों में ई टेंडरिंग लागू करके पंचायतों से उनका हक छीनने का प्रयास कर रही है। पत्रकारों से बातचीत करते हुए सरपंच बलकार नागरा, सरपंच फतेह चंद, सरपंच साक्षी चौधरी, सरपंच कांता देवी, सरपंच शक्ति वाला आदि ने कहा कि सरकार पंचायतों में होने वाले विकास कार्याे के लिए ईटेंडरिंग लागू कर रही है जिसका वह विरोध करते हैं और सरकार से मांग करते हैं कि इसे पंचायतों में लागू नहीं किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि ऐसे पंचायत में जो विकास कार्य होते थे गांव के ही बेरोजगार युवा करवाते थे लेकिन अब ई टेंडरिंग प्रक्रिया शुरू होने के कारण बाहर से बड़े ठेकेदार आएंगे और पंचायतों में विकास कार्य करवाएंगे जो उन्हें मंजूर नहीं है। उन्होंने साफ शब्दों में सरकार को चेतावनी देते हुए कहा कि अगर सरकार ने पंचायतों में ई टेंडरिंग प्रक्रिया को शुरू करने का प्रयास किया तो सरपंच सड़कों पर उतरने के लिए मजबूर हो जाएंगे। उन्होंने कहा कि सरकार ई टेंडरिंग शुरू कर मनरेगा जॉब कार्ड होल्डरों के साथ भी अन्याय करने में जुटी हुई है क्योंकि बड़े ठेकेदार बाहर से लेबर लाकर विकास कार्य करवाएंगे। वहीं पंचायतों में सरकार द्वारा 10 लाख रुपए दिए जाने पर उन्होंने कहा कि सरकार ने उन्हीं पैसों से 20000 काटकर पंचायत में खेलों का सामान बच्चों में वितरित किया है जबकि सरकार को यह राशि अलग से मंजूर करने की जरूरत थी। इस अवसर पर सरपंच सरताज सिंह लाडा, पंच वचन चौधरी, सरपंच युवराज सिंह, सरपंच सुशील शर्मा, सरपंच अशोक कुमार, सरपंच कैप्टन हंसराज तथा सरपंच कांता शर्मा सहित कई पंचायतों के पंच भी मौजूद थे। हिन्दुस्थान समाचार/अमरीक/बलवान-hindusthansamachar.in