जिला प्रशासन ने 50 कनाल सरकारी भूमि से अवैध कब्जा हटाया
जिला प्रशासन ने 50 कनाल सरकारी भूमि से अवैध कब्जा हटाया
जम्मू-कश्मीर

जिला प्रशासन ने 50 कनाल सरकारी भूमि से अवैध कब्जा हटाया

news

कठुआ, 17 सितंबर (हि.स.)। अवैध अतिक्रमण हटाओ अभियान के तहत कठुआ प्रशासन द्वारा 50 कनाल से अधिक सरकारी भूमि से अवैध कब्जा हटाया गया। गुरुवार को कठुआ प्रशासन की टीम में एसीआर कठुआ और तहसीलदार कठुआ भारी पुलिस बल के साथ जिला कठुआ के अधीन पड़ते चन्नग्रां क्षेत्र में पहुंचे जहंा पर विशेष समुदाय द्वारा सरकारी भूमि पर पक्का निर्माण किया गया था। जिसे प्रशासन द्वारा जेसीबी से हटा दिया गया। जानकारी के अनुसार जिला कठुआ के अधीन पड़ते चन्नग्रां क्षेत्र में आईआरपी कैंप के सामने 50 कनाल सरकारी भूमि पर कुछ विशेष समुदाय के लोगों ने अवैध कब्जा कर रखा था, जिस पर उन्होंने पक्की दुकानें बना दी थी। वही जिला प्रशासन द्वारा दुकानों को जेसीबी के साथ गिरा दिया गया। इस कार्यवाही के दौरान विशेष समुदाय के लोग एकत्रित हुए जिसमें उन्होंने दुकानें गिराने का विरोध किया लेकिन भारी पुलिस की तैनाती के सामने उनकी एक न चली और जेसीबी ने एक-एक कर की दुकानों को तोड़ दिया। सरकारी भूमि पर बनाई गई दो दुकानों के अलावा कुल्लों को हटाया गया। हालांकि एक रिहायशी कुल्ला भी था जिसके भीतर सामान एवं कुछ महिलाएं थी जिसके चलते मौके पर मौजूद अधिकारियों ने उन्हें एक दिन के भीतर उसे भी खाली करने को कहा। यह सारी कार्रवाई दो घंटे से भी ज्यादा समय तक जारी रही। ए.सी.आर. देंवेंद्र पाल के अलावा तहसीलदार गौरव शर्मा, डी.एस.पी. कमल देव भगत, माजिद महबूब, थाना प्रभारी अरविंद संब्याल भी मौके पर मौजूद रहे। कार्रवाई का विरोध कर रहे विशेष समुदाय के लोगों ने कहा कि वे पिछले कई दशकों से यहां रह रहे हैं। उन्होंने दावा करते हुए कहा कि उनके साथ इस भूमि के कागजात भी हैं उनकी गिरदावरी तक चढ़ी हैं परंतु प्रशासन जानबूझ कर उन्हें निशाना बना रहा है। उन्होंने कहा कि प्रशासन की इस तरह की कार्रवाई निंदनीय है। वहीं, ए.सी.आर. देवेंद्र पाल ने बताया कि पच्चास कनाल के करीब सरकारी भूमि पर कब्जा हटाने के लिए कार्रवाई की जा रही है। फिलहाल कुछ ढांचों को गिराया गया है। अतिक्रमणकारियों के विरुद्ध प्रशासन की कार्रवाई जारी रहेगी। जहां जहां भी सरकारी भूमि पर अतिक्रमण होगी, वहां कार्रवाई की जाएगी। हिन्दुस्थान/समाचार/सचिल/बलवान-hindusthansamachar.in