जम्मू क्षेत्र को राज्य का दर्जा देन की मांग को लेकर पैंथर्स ने किया प्रदर्शन
जम्मू क्षेत्र को राज्य का दर्जा देन की मांग को लेकर पैंथर्स ने किया प्रदर्शन
जम्मू-कश्मीर

जम्मू क्षेत्र को राज्य का दर्जा देन की मांग को लेकर पैंथर्स ने किया प्रदर्शन

news

जम्मू, 16 अक्टूबर (हि.स.)। जम्मू क्षेत्र को राज्य का दर्जा देने की मांग को फिर से दोहराते हुए, हर्ष देव सिंह जेकेएनपीपी के चेयरमैन और यश पॉल कुंडल राज्य अध्यक्ष यंग पैंथर्स के नेतृत्व में एनपीपी के कार्यकर्ताओं ने शुक्रवार को विरोध प्रदर्शन किया। हर्ष देव सिंह ने कश्मीर केंद्रित नेताओं को सलाह दी कि वे धारा 370 और 35-ए के रूप में बिखरे हुए दूध पर चिल्लाने से बचें जो इतिहास का हिस्सा बन गया है। गुपकार की घोषणा और पीपुल्स एलायंस के संकल्प को अस्वीकार करते हुए, हर्ष देव ने कहा कि राजनीतिक दलों को उक्त विषय पर राजनीति करना बंद कर देना चाहिए, बल्कि जम्मू-कश्मीर के दोनों क्षेत्रों में लोगों को होने वाली अंतहीन समस्याओं को कम करने पर ध्यान केंद्रित करना चाहिए। सिंह ने कहा कि जम्मू को कश्मीर के साथ जोडऩे और केंद्र शासित प्रदेश के रूप में वर्गीकृत करने का कोई औचित्य नहीं है। जम्मू क्षेत्र के शांतिप्रिय लोग अपने राष्ट्रवादी, धर्मनिरपेक्षता और देश के संविधान, इसकी अखंडता और संप्रभुता के लिए सम्मान के लिए जाने जाते हैं। देश में हालिया सीएए और एनआरसी आंदोलन के दौरान अन्य राज्यों में हिंसक विरोध प्रदर्शन, आगजनी और खून-खराबा होते हुए भी जम्मू क्षेत्र सबसे शांतिपूर्ण बना रहा। कश्मीर में समस्याओं के कारण ही जम्मू क्षेत्र में 4 जी इंटरनेट कनेक्टिविटी को रोक दिया गया था। कश्मीर से जुड़े मुद्दों के कारण ही हमसे राज्य छीन लिया गया। कश्मीर में प्रतिकूल सुरक्षा स्थिति के कारण ही हमें लोकतांत्रिक अधिकारों से वंचित किया गया है। कब तक कश्मीर में परेशानियों के लिए जम्मू प्रदेश के लोग पीड़ित रहेंगे। हमें कुछ भारत विरोधी या कश्मीर में अलगाववादी तत्वों के पापों के लिए क्यों दंडित किया जाना चाहिए। सिंह ने सवाल किया कि हमें 1846 से राज्य की स्थिति से वंचित क्यों रखा जाना चाहिए, जो पिछले 200 वर्षों से डोगरा भूमि के लोगों को पसंद आया था। हर्ष देव ने जम्मू क्षेत्र को राज्य का शीघ्र दर्जा देने की मांग की। उन्होंने कहा, केंद्र को कश्मीर से निपटने का तरीका तय करना चाहिए। सिंह ने कहा कि कश्मीर में समस्याओं के लिए जम्मू क्षेत्र को दंडित करना पूरी तरह अनुचित है और पैंथर्स पार्टी द्वारा इसका कड़ा विरोध किया जाएगा। इस अवसर पर बोलने वालों में प्रमुख रूप से राजेश पडगोत्रा, गगन प्रताप, सुरिंदर चौहान, विनोद जम्वाल, कुंवर वली, यशपाल शर्मा, निर्मल किशोर, कुलभूषण, राकेश गुप्ता, योगिंदर सुम्ब्रिया, शंकर सिंह संजू, गुरदीप सिंह राजू, रश्मि विकास, रतन सिंह, गगन सिंह, राहुल सिंह, दर्शन सिंह, गुरचरण सिंह, कुलदीप सिंह, तिलक सिंह, जोगिंदर सिंह के अलावा अन्य शामिल थे। हिन्दुस्थान समाचार/अमरीक/बलवान-hindusthansamachar.in