गुपकार गठबंधन राष्ट्र की सुरक्षा और संप्रभुता के लिए एक गंभीर खतरा: सैनिक समाज पार्टी
गुपकार गठबंधन राष्ट्र की सुरक्षा और संप्रभुता के लिए एक गंभीर खतरा: सैनिक समाज पार्टी
जम्मू-कश्मीर

गुपकार गठबंधन राष्ट्र की सुरक्षा और संप्रभुता के लिए एक गंभीर खतरा: सैनिक समाज पार्टी

news

जम्मू, 17 अक्टूबर (हि.स.)। सैनिक समाज पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष कर्नल एस.एस. पठानिया (सेवानिवृत्त) ने अनुचित गुपकार गठबंधन पर गहरी चिंता जाहिर करते हुए शनिवार को कहा कि महबूबा मुफ्ती की रिहाई और फारूक अब्दुल्ला के साथ उनकी मुलाकात और एक नए गठबंधन से यह एक खतरनाक आकार ले रहा है। उन्होंने कहा कि अगर कांग्रेस और अन्य कश्मीर आधारित राजनीतिक दल भी उनका साथ देते हैं, तो इससे न केवल हमारे लोकतंत्र को खतरा होगा, बल्कि यह राष्ट्र की सुरक्षा को भी खतरे में डाल देगा। फारूक और महबूबा के हालिया बयानों से यह साबित होता है कि वे देशद्रोही हैं और अपने नापाक मंसूबों को पूरा करने और सत्ता में आने के लिए वे किसी भी हद तक जा सकते हैं। उन्होंने कहा कि जेकेयूटी एक अनोखा राज्य है, यहां पर पाकिस्तान लगातार समस्याएं पैदा करने के लिए आतंकवाद का समर्थन कर रहा है और इस समस्या का अंतर्राष्ट्रीयकरण करने की कोशिश कर रहा है। हालात को खराब करने के लिए अब चीन भी शामिल हो गया है और फारूख और महबूबा उसका खुले तौर पर समर्थन कर रहे हैं जो कि सत्ता से बाहर होने की स्थिति में हताश ओर निराश हैं। घाटी के लोग 72 वर्षों से शोषित हो रहे हैं अब उनको इन नेताओं के नापाक इरादों की समझ आ गई है और वे इन सत्ता के भूखे, राष्ट्र विरोधी नेताओं और दलों से निजात पाना चाहते हैं। पठानिया ने कहा कि महबूबा की रिहाई का फैसला लोकतांत्रिक और न्यायसंगत था, लेकिन अगर इससे हिंसा और आतंकवाद में वृद्धि होती है, तो सरकार को उसे वापस लेने के लिए कोई हिचकिचाहट नहीं होनी चाहिए। हिन्दुस्थान समाचार/अमरीक/बलवान-hindusthansamachar.in