गुपकार एजेंडे के तहत किया गया नेकां-पीडीपी का गठबंधन देश विरोधी ताकतों का एजेंडा: रैना
गुपकार एजेंडे के तहत किया गया नेकां-पीडीपी का गठबंधन देश विरोधी ताकतों का एजेंडा: रैना
जम्मू-कश्मीर

गुपकार एजेंडे के तहत किया गया नेकां-पीडीपी का गठबंधन देश विरोधी ताकतों का एजेंडा: रैना

news

जम्मू, 16 अक्टूबर (हि.स.)। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष रविन्द्र रैना ने शुक्रवार को कहा कि नेकां और पीडीपी द्वारा गुपकार एजेंडे के तहत किया गया संयुक्त गठबंधन देश विरोधी ताकतों का एक एजेंडा है जो कश्मीर घाटी में स्थिति को अस्थिर करना चाहता है। उन्होंने पार्टी द्वारा बुलाई गई विभिन्न संगठनों की बैठक के बाद पत्रकारों से बातचीत करते हुए यह बात कही। इससे पहले कश्मीर में राजनीतिक घटनाक्रम और नेकां और पीडीपी द्वारा गठबंधन के गठन के मद्देनज़र प्रदेश भाजपा ने जम्मू में भाजपा मुख्यालय में अपने वरिष्ठ नेताओं और विभिन्न सामाजिक और धार्मिक संगठनों के प्रमुखों की शुक्रवार को एक बैठक बुलाई। बैठक में भाग लेने वाले प्रमुख संगठनों और उनके प्रतिनिधियों में ऑल जेएंडके राजपूत सभा से नारायण सिंह, ऑल जेएंडके ब्राह्मण प्रतिनिधि सभा शक्ति दत्त शर्मा, ऑल जेएंडके महासभा सदर डॉ. एमएल राव, ऑल जेएंडके श्री गुरु रविदास सभा केके डींगरा, ऑल जेएंडके कबीर दास सभा फकीर चंद भगत, ऑल जेएंडके ओबीसी सभा ब्रह्मजोत सत्ती, अजायब सिंह, पश्चिम पाकिस्तानी शरणार्थी लाभा राम गांधी, एसटी सभा हारून चौधरी और विभिन्न अन्य संगठनों के लगभग 100 प्रतिनिधियों ने भाग लिया। बैठक में भाजपा के सभी पूर्व विधायकों, पूर्व एमएलसी और राज्य पदाधिकारियों सहित अन्य वरिष्ठ नेताओं ने भी सक्रिय रूप से भाग लिया। उन्होंने अन्य संगठनों के साथ मिलकर यह निर्णय लिया कि नेकां और पीडीपी द्वारा कोई भी राष्ट्र विरोधी कदम एकजुट होकर लड़ा जाएगा। वरिष्ठ संगठनों के प्रतिनिधियों ने अपनी राय व्यक्त की और नेकां और पीडीपी के नापाक मंसूबों के खिलाफ एकजुट होकर लड़ाई लडऩे का आह्वान किया। वहीं रैना ने कहा कि अनुच्छेद 370 के निरस्त होने के बाद जम्मू, कश्मीर और लद्दाख में आम जनता खुशी में कूद गई क्योंकि अनुच्छेद 370 ने जम्मू और कश्मीर के आम लोगों के साथ आपराधिक अन्याय किया। उन्होंने कहा कि अब्दुल्ला परिवार और मुफ्ती परिवार द्वारा देश के खिलाफ साजिश रची जा रही है और हम इस राष्ट्र विरोधी कदम को बर्दाश्त नहीं करेंगे। अब्दुल्ला और मुफ़्ती द्वारा गठित गठबंधन का जम्मू-कश्मीर के लोगों की बेहतरी से कोई लेना-देना नहीं है। वे सिर्फ पाकिस्तान और चीन के सुर पर नृत्य कर रहे हैं और अनुच्छेद 370 की बहाली की मांग कर रहे हैं जो कि असंभव है क्योंकि अनुच्छेद 370 ने जम्मू, कश्मीर और लद्दाख में आम जनता के साथ आपराधिक अन्याय किया। उन्होंने कहा कि धारा 370 को कयामत के दिन तक लागू नहीं किया जाएगा, इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि अब्दुल्ला और मुफ्ती कितना रोते हैं। उन्होंने आगे कहा कि अनुच्छेद 370 ने अलगाववाद और आतंकवाद को जन्म दिया था और जम्मू-कश्मीर में पाकिस्तानवाद को विकसित करने का भी प्रयास किया, जिसने आतंकवाद को जन्म दिया जिसमें हजारों निर्दाेष लोग मारे गए। रैना ने आगे कहा कि अनुच्छेद 370 ने गुर्जरों और बक्करवालों, एससी, एसटी, ओबीसी, पहाडिय़ों, महिलाओं, वाल्मीकियों, डब्ल्यूपीआर आदि जैसे समुदायों के लिए मानवाधिकारों की हत्या कर दी है। उन्होंने कहा कि गठबंधन जनता का गठबंधन नहीं है क्योंकि यह गठबंधन है। सत्ता के भूखे नेता जो जम्मू-कश्मीर के लोगों द्वारा पहले ही खारिज कर दिए गए हैं। रैना ने कहा कि अब धारा 370 को निरस्त कर दिया गया है और हम एकजुट होकर पाकिस्तान और चीन के खिलाफ लड़ेंगे और उनके एजेंडे को हराएंगे, क्योंकि हम अपनी सरजमीं पर अपने एजेंडे पर चलने वालों की भी पहचान करेंगे। उन्होंने कहा कि पीओजेके, गिलगित, बाल्टिस्तान, पूर्वी लद्दाख और शक्सम घाटी में रहने वाले लोगों पर पाकिस्तान और चीन अत्याचार कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि पीओजेके, गिलगित, बाल्टिस्तान, अक्साई चिन और शक्सम घाटी भारत का अभिन्न हिस्सा हैं और वर्तमान में चीन द्वारा अवैध रूप से कब्जा कर लिया गया है, यह वह समय है जब हमें एकजुट होकर पाकिस्तान और चीन के कब्जे वाले इन क्षेत्रों को मुक्त करने के लिए कदम उठाना चाहिए। रविंदर रैना ने कहा कि अगर भारत विरोधी अपने एजेंडे को आगे बढ़ाने की कोशिश की तो तिकड़ी को गंभीर परिणाम भुगतने पड़ेंगे। उन्होंने कहा कि जो भी कश्मीर के लोगों को देश के खिलाफ भडक़ाने की कोशिश करेगा, उसे हम बर्दाश्त नहीं करेंगे। हिन्दुस्थान समाचार/अमरीक/बलवान-hindusthansamachar.in