किसान बिल के विरोध में आम आदमी पार्टी कठुआ इकाई ने किया केंद्र सरकार के खिलाफ प्रदर्शन
किसान बिल के विरोध में आम आदमी पार्टी कठुआ इकाई ने किया केंद्र सरकार के खिलाफ प्रदर्शन
जम्मू-कश्मीर

किसान बिल के विरोध में आम आदमी पार्टी कठुआ इकाई ने किया केंद्र सरकार के खिलाफ प्रदर्शन

news

कठुआ, 15 अक्तूबर (हि.स.)। बीते दिनों केंद्र सरकार द्वारा लागू किए गए किसान बिल को लेकर विभिन्न पार्टियों के धरने प्रदर्शन जारी हैं। देशभर में लगातार किसान बिल के विरोध में प्रदर्शन हो रहे हैं इसी में गुरुवार को आम आदमी पार्टी कठुआ इकाई ने भी रैली निकालकर केंद्र सरकार के खिलाफ प्रदर्शन किया और बाद में जिला सचिवालय पहुंचकर जिला उपायुक्त ओम प्रकाश भगत को किसान बिल के संबंध में एक ज्ञापन सौंपा। प्रदर्शनकारियों ने कठुआ के कालीबड़ी से जिला सचिवालय तक पैदल मार्च निकालकर केंद्र सरकार के खिलाफ नारेबाजी की। जिसमें उन्होंने नरेंद्र मोदी किसान विरोधी, इंकलाब जिंदाबाद, भारत माता की जय नारे लगाते हुए जिला सचिवालय पहुंचे। वही पत्रकारों को संबोधित करते हुए आम आदमी पार्टी के ओबीटी के सदस्य रवि शास्त्री ने बताया कि मोदी सरकार में नया किसान बिल लाकर किसानों को दबाने का कार्य किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार द्वारा जो बिल किसानों पर थोपा गया है, वह बिल्कुल किसान विरोधी बिल है। इससे किसानों को लाभ कम नुकसान अधिक होगा। उन्होंने कहा कि एक तो देश का किसान पहले से ही मंदी की मार झेल रहा है उपर से इस प्रकार का बिल लाकर उन्हें प्रताड़ित किया जा रहा है। एमएसपी पर बोलते हुए कहा कि उसे इस बिल से बाहर रखा है इससे साफ जाहिर है कि किसानों को दबाया जाएगा। उन्होंने कहा कि चंद कुछ पुजीवादी लोगों को खुश करने के लिए इस बिल को लाया गया है। उन्होंने कहा कि किसान पूरे देश के लिए अन्न उगाता है लेकिन उसी अन्नदाता को प्रताड़ित करने का काम भाजपा सरकार कर रही है। जब तक किसान विरोधी बिल वापस नहीं लिया जाता तब तक आम आदमी पार्टी कठुआ में शांत नहीं बैठेगी। वही जिलाध्यक्ष आम आदमी पार्टी हीरा लाल वर्मा ने कहा कि किसानों के हित के लिए आज कठुआ में पैदल मार्च का आयोजन किया गया जिसमें केंद्र सरकार द्वारा लागू किए गए किसान बिल को वापस लेने की मांग की गई है। उन्होंने कहा कि इस मार्च के बाद जिला उपायुक्त को ज्ञापन सौंपा जाएगा जिसमें इस बिल को वापस लेने की मांग की गई है। उन्होंने कहा कि आज देश का किसान बहुत दुखी है, केंद्र सरकार की किसान विरोधी नीतियों से किसान पूरी तरह से टूट चुका है। उन्होंने कहा कि आज हालात ये हैं कि किसान आत्महत्या करने पर जोर पकड़ रहे हैं क्योंकि उन्हें कोई फायदा नहीं हो रहा है ना ही उनके कोई ऋण माफ किए जा रहे हैं ना ही कोई सुविधा दी जा रही है। उल्टा किसान विरोधी बिल उनपर थोपा गया है। इस अवसर पर अशोक कुमार, गिरधारी लाल, अंग्रेज सिंह, गोपाल दास, गणेश दास, नरेश कुमार सहित कई अन्य पार्टी के नेता मौजूद रहे। हिन्दुस्थान/समाचार/सचिन/बलवान-hindusthansamachar.in