कांग्रेस वरिष्ठ नेता अप्पर थनोआ का दौरा कर सुनी लोगों की समस्याएं
कांग्रेस वरिष्ठ नेता अप्पर थनोआ का दौरा कर सुनी लोगों की समस्याएं
जम्मू-कश्मीर

कांग्रेस वरिष्ठ नेता अप्पर थनोआ का दौरा कर सुनी लोगों की समस्याएं

news

उधमपुर, 18 अक्तूबर (हि.स.)। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सुमित मंगोत्रा द्वारा रविवार को अप्पर थनोआ गांव का दौरा किया। वहीं गांव में पहुंचने पर लोगों द्वारा कांग्रेस के वरिष्ठ नेता को फूल मालाएं पहनाकर ढोल नगाड़ों के साथ जोरदार स्वागत किया गया। इस दौरान गांव वासियों ने उनके गांव की कई समस्याओं को रखा। लोगों ने उनको समस्याओं के बारे में बताते हुए कहा कि चुनावों से पहले हर कोई राजनीतिक पार्टी के लोग वोट मांगने आते हैं लेकिन चुनाव हो जाने के बाद हमारे इलाके की आज तक किसी ने सुध नहीं ली है। यह पहली बार हो रहा है कि कांग्रेसी नेता सुमित मंगोत्रा उनके गांव में पहुंचे है। वहां पर मौजूद गांव की महिलाओं द्वारा सुमित मंगोत्रा के आगे ओल्डेज पेंशन और सरकारी स्कूल में बनाए गए तालाब जोकि चारों तरफ से खुला पड़ा होने के कारण स्कूली बच्चे गिरने तथा बड़ा हादसा होने का डर बना हुआ है की समस्या को रखा गया। उन्होंने उनसे इस तालाब के चारों और चार दिवारी करने की मांग रखी। वहीं गांव के बुजुर्ग व युवाओं द्वारा कालडी से लेकर पल्लन तक मैटाडोर चलाने की मांग रखी। उनका कहना था कि कालडी से पल्लन तक 4 से 5 किलोमीटर रोड जोकि ब्लैक टॉप हुआ है लेकिन वहां पर कोई भी मैटाडोर वाला नहीं आता, जिसके कारण बुजुर्ग, बच्चों को पैदल आना-जाना पड़ता है। इस अवसर पर उन्होंने कालडी मंदिर के पास एक पुलिस चैकी खोलने की मांग रखी, क्योंकि चार दिन पहले ही कालडी प्राचीन मंदिर में चोरों द्वारा ताले तोड़े गए है। लोगों का कहना था कि आसपास के गांव के लोगों को अगर पुलिस चैकी पर जाना पड़े तो उनको 25 किलोमीटर आगे पुलिस चैकी में जाना पड़ता है। वहीं सुमित मंगोत्रा ने अपने संबोधन में लोगों को आश्वासन दिया कि दो-चार दिन के भीतर ही वह जिला पुलिस प्रमुख के आगे पुलिस चैकी खोलने की मांग रखेंगे। वहीं आरटीओ उधमपुर से बात करके जल्द ही इस रूट पर कम से कम दिन में दो बार मैटाडोर लगाने की बात करेंगे। मंगोत्रा का कहना था कि चुनावों में नेताओं को गांव से वोट लेने की याद आती है लेकिन बड़े दुःख की बात है कि चुनावों के बाद गांव की ओर कोई भी ध्यान नहीं देता, जिसके कारण गांव के लोग मूलभूत सुविधाओं से आज तक वंचित हैं। उन्होंने लोगों को विश्वास दिलाया कि उनके गांव की हर एक समस्या को वह प्रशासन के समक्ष उठाएंगे और लोगों से भी उन्होंने अपील की कि अपना हक लेने के लिए आप लोगों को भी एकजुट होकर संघर्ष करना पड़ेगा। हिन्दुस्थान समाचार/रमेश/बलवान ------------hindusthansamachar.in