अस्थायी कर्मियों द्वारा की जा रही हड़ताल पर जल्द कदम उठाए सरकार: गोविंद राम
अस्थायी कर्मियों द्वारा की जा रही हड़ताल पर जल्द कदम उठाए सरकार: गोविंद राम
जम्मू-कश्मीर

अस्थायी कर्मियों द्वारा की जा रही हड़ताल पर जल्द कदम उठाए सरकार: गोविंद राम

news

उधमपुर, 16 अक्तूबर (हि.स.)। जल आपूर्ति विभाग में लगे अस्थायी कर्मियों को करीब 20 साल से ज्यादा हो गए हैं लेकिन इन डेलीवेजर कर्मचारियों को उनका हक नहीं दिया जा रहा है। आज कई सालों से उनको पूरी सैलरी नहीं मिली है न ही उनकी कई अन्य मांगों को माना जा रहा है, जिस कारण इनको अपना हक पाने के लिए हड़ताल करने के अलावा कोई चारा नहीं रहा है। इसलिए सरकार को चाहिए कि वह इनकी मांगों को हल करने के लिए कदम उठाए ताकि इनको भी राहत मिल सके। उक्त बातें अम्बेडकर वैल्फेयर ऑग्रेनाइजेशन के सदस्य गोबिंद राम ने एक प्रैस वार्ता के दौरान कहीं। उन्होंने कहा कि इतने दिनों से अस्थायी कर्मचारी हड़ताल पर हैं पर इस गूंगी, बहरी सरकार के कानों में यूं तक नहीं रेंगी। जब से जम्मू कश्मीर में 35ए और 370 को तोड़ा है जोर जबरदस्ती से जम्मू कश्मीर को यूटी बना दिया गया है। यूटी के लोगों के लिए जो प्रवधान होते हैं वो आज तक लागू नहीं किये गए। न ही मिनिमम बेजिज एक्ट के मध्यम से इन कर्मचारियों की सैलरी जो कम से कम 15 हजार रुपए होनी चाहिए थी नहीं दी जा रही और जो दी जा रही है उससे परिवार का पालन पोषण नहीं हो सकता लेकिन वह भी समय पर नहीं दी जा रही है। उनका कहना था कि जानबूझकर यह सरकार लोगों की आबाज दवा रही है। इतने दिनों से लोग हड़ताल पर हैं लोगों को पानी कौन मुहैया करवा रहा है। हम सलाम करते है ऊधमपुर शहर के जेई अरुण गुप्ता को जो दिन-रात एक करके इन कर्मचारियों का भी समर्थन कर रहे हैं और लोगों को पानी भी मुहैया करवा रहे है। उन्होंने मांग करते हुए कहा कि इन कर्मचारियों की आबाज को सुना जाए और इन्हंे इनकी सैलरी और पक्का किया जाए। प्रैस वार्ता में अंकुश शर्मा, ओंकार सिंह, कालू, मुकेश, पकंज, मकबूल, धर्मवीर सिंह आदि उपस्थित थे। हिन्दुस्थान समाचार/रमेश/बलवान-hindusthansamachar.in