अल्ताफ बुखारी ने महबूबा मुफ्ती की रिहाई का किया स्वागत, अन्य सभी राजनीतिक बंदियों की रिहाई की मांग उठाई
अल्ताफ बुखारी ने महबूबा मुफ्ती की रिहाई का किया स्वागत, अन्य सभी राजनीतिक बंदियों की रिहाई की मांग उठाई
जम्मू-कश्मीर

अल्ताफ बुखारी ने महबूबा मुफ्ती की रिहाई का किया स्वागत, अन्य सभी राजनीतिक बंदियों की रिहाई की मांग उठाई

news

जम्मू, 14 अक्तूबर (हि.स.)। पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती की रिहाई का स्वागत करते हुए अपनी पार्टी के अध्यक्ष सैयद मोहम्मद अल्ताफ बुखारी ने बुधवार को जम्मू-जेल में और बाहर रखे गए अन्य सभी राजनीतिक बंदियों को रिहा करने की मांग उठाई। बुखारी ने यहां जारी एक बयान में कहा कि सुश्री मुफ्ती को रिहा करने का सरकार का कदम, हालांकि विलंबित है लेकिन सही दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम है। उन्होंने सैकड़ों राजनीतिक बंदियों को तुरंत रिहा करने की मांग की जो अभी भी 5 अगस्त 2019 के बाद से जम्मू और जम्मू के बाहर जेलों में बंद हैं। उन्होंने कहा कि यह हमारी लगातार मांग रही है कि लोगों की पीड़ा को कम करने के लिए सभी राजनीतिक कार्यकर्ताओं और नेताओं को रिहा किया जाए। तेजी से फैलती कोविद-19 महामारी के मद्देनजर उनकी शीघ्र रिहाई जरूरी है क्योंकि इससे उनके परिवारों को उनसे मिलने के लिए जम्मू कश्मीर और इससे बाहर बाहर की जेलों में जाने के लिए रोका जा सकता है। उन्होंने कहा कि एक तरफ केंद्र सरकार कोविद-19 के प्रसार को रोकने के लिए सभी उपाय कर रही है और दूसरी तरफ ऐसा लगता है कि राजनीतिक बंदियों की दुर्दशा और उनके परिवारों को अकारण ही नजरअंदाज किया जा रहा है। बुखारी ने कहा कि कुछ ऐसे परिवार भी हैं जो आर्थिक रूप से कमजोर हैं और अपने प्रियजनों से नहीं मिल सकते हैं जिन्हें पिछले साल हिरासत में लिया गया था और अभी भी जम्मू-कश्मीर से बाहर की जेलों में बंद हैं। बुखारी ने कहा कि कोविद-19 संकट ने राजनीतिक कैदियों के बुनियादी मानवाधिकारों पर प्रतिकूल प्रभाव डाला है जिनको बिना किसी आरोप या मुकदमेबाजी के केवल संदेह पर बंदी बनाया गया है। वहीं जमीनी स्तर के राजनीतिक कार्यकर्ताओं के परिवार मानसिक आघात से गुजर रहे हैं क्योंकि वे नियमित रूप से जेलों में नहीं जा सकते हैं। बुखारी ने कहा कि केंद्र सरकार को दयनीय और मानवीय आधार पर उनकी रिहाई का आदेश देना चाहिए। हिन्दुस्थान समाचार/अमरीक/बलवान-hindusthansamachar.in