मंडी के महादेव में आग से जलकर युवक की मौत

मंडी के महादेव में आग से जलकर युवक की मौत
youth-dies-in-fire-at-mahadev-in-mandi

घर में लगी आग की लपटों में घिर गया युवक मंडी, 07 मई (हि. स.)। मंडी जिला के उपमंडल सुंदरनगर में एक दिलदहला देने वाला हादसा सामने आया है। जहां एक घर में आगजनी की घटना के कारण 34 वर्षीय युवक की जलने से मौत हो गई है। घटना सुंदरनगर तहसील की अंतर्गत ग्राम पंचायत महादेव में घटित हुई है। इससे क्षेत्र में शोक की लहर दौड़ गई है। घटना देर रात वीरवार की है जब घर के सदस्य सो रहे थे तो उसी दौरान यह आगजनी की घटना पेश आई। जानकारी के अनुसार देर रात 10 बजे जब कर्म चंद और लता देवी घर की निचली मंजिल सो गए और 34 वर्षीय बेटा राजेंद्र कुमार घर की ऊपरी मंजिल पर सोने चला गया। लेकिन कुछ ही देर में घर में अचानक आग लग गई और आनन-फानन में कर्मचंद व लता देवी घर से बाहर निकले। लेकिन उस समय तक घर में भयंकर आग लग चुकी थी। घटना की सूचना जैसे ही स्थानीय लोगों को लगी तो उन्होंने तुरंत बीबीएमबी फायर बिग्रेड की गाड़ी को सूचना दी। लेकिन जब तक मौके पर पहुंचकर फायर बिग्रेड के कर्मी आग पर काबू पाते उस समय तक घर की ऊपरी मंजिल पर सो रहा राजेंद्र जल गया था। इस कारण उसकी दर्दनाक मौत हो गई। वहीं घटना की सूचना स्थानीय प्रशासन व बीएसएल पुलिस थाना को दी गई। मौके पर पहुंचकर पुलिस कर्मियों व एसडीएम सुंदरनगर राहुल चौहान ने हालात का जायजा लिया। पुलिस ने शव को कब्जे में ले लिया है। मामले को लेकर पुलिस ने एफआईआर दर्ज कर घटना के कारणों का पता लगाने में जुट गई है। उधर,मामले की पुष्टि करते हुए एसडीएम सुंदरनगर राहुल चौहान ने बताया कि आगजनी की इस घटना में 34 वर्षीय राजेंद्र की दर्दनाक मौत हुई है। उन्होंने कहा कि नुकसान का आंकलन लगाया जा रहा है और पीडि़त परिवार की हर संभव मदद की जाएगी। घटना की सूचना मिलते ही जिला परिषद महादेव के जिला परिषद जसवीर सिंह और नाचन के वरिष्ठ कांग्रेसी नेता ब्रह्मदास चौहान ने भी मौके पर पहुंच कर हालात का जायजा लिया। आगजनी की घटना में प्रभावित कर्मचंद का छ साल पहले भी अपने बड़े बेटे को पलौहटा के समीप एक सडक़ दुर्घटना में खो चुका है। वहीं अब दूसरे बेटे की भी आगजनी में मौत होने से परिवार में मात्र एक बेटा बच गया है। इस हादसे के कारण अब परिवार पर दुखों का पहाड़ टूट गया है। परिवार का अब एक मात्र सहारा सबसे छोटा बेटा बचा हुआ है। हादसा इतना दर्दनाक था कि आगजनी के कारण परिवार वालों के पास पहनने के लिए भी कपड़े नहीं बचे हैं। हिन्दुस्थान समाचार/मुरारी/सुनील