हिमाचल में विश्व बैंक पोषित परियोजना से मजबूत होगी गुणात्मक शिक्षा और अधोसंरचना : सुरेश भारद्वाज
हिमाचल में विश्व बैंक पोषित परियोजना से मजबूत होगी गुणात्मक शिक्षा और अधोसंरचना : सुरेश भारद्वाज
हिमाचल-प्रदेश

हिमाचल में विश्व बैंक पोषित परियोजना से मजबूत होगी गुणात्मक शिक्षा और अधोसंरचना : सुरेश भारद्वाज

news

शिमला, 24 जुलाई (हि.स.)। शिक्षा मंत्री सुरेश भारद्वाज ने कहा कि विश्व बैंक पोषित परियोजना से प्रदेश में गुणात्मक शिक्षा प्रदान करने तथा शैक्षणिक संस्थानों की अधोसंरचना को सुदृढ़ करने में बल मिलेगा। विश्व बैंक ने सदैव प्रदेश के विकास में महत्वपूर्ण योगदान दिया है तथा सरकार आशा करती है कि भविष्य में भी विश्व बैंक की सहायता से शिक्षा क्षेत्र में नए आयाम स्थापित किए जाएंगे। उन्होंने इस उद्देश्य के लिए शिक्षा विभाग में एक टीम गठित करने के निर्देश दिए, जो परियोजना प्रस्ताव तैयार करेगी तथा विश्व बैंक से समन्वय स्थापित करेगी। सुरेश भारद्वाज शुक्रवार को विश्व बैंक के साथ वीडियो काॅन्फ्रेंसिंग के माध्यम से आयोजित एक बैठक को संबोधित कर रहे थे। राज्य उच्च शिक्षा परिषद के अध्यक्ष डाॅ. सुनील कुमार गुप्ता ने बैठक के दौरान विश्व बैंक के प्रतिनिधियों को हिमाचल प्रदेश की विशेष परिस्थितियों तथा आवश्यकताओं से परिचित करवाया। उन्होंने प्रदेश में पहले से स्थापित काॅलेजों के लिए गुणात्मक शिक्षा तथा नए काॅलेजों के लिए अधोसंरचना के सुदृढ़ीकरण पर विशेष बल देने को कहा। अमेरिका के न्यूयाॅर्क से इस बैठक में भाग ले रहे विश्व बैंक के प्रतिनिधि कर्ट लारसन ने बताया कि विश्व बैंक द्वारा विभिन्न घटकों के लिए परियोजनाएं स्वीकृत की जाती हैं। परियोजनाओं की रूपरेखा तथा स्वीकृति मानव संसाधन विकास मंत्रालय के माध्यम से दी जाती है। परियोजना प्रस्ताव राज्य की परिस्थितियों, आवश्यकताओं तथा मांगों के आधार पर तैयार होना चाहिए। हिन्दुस्थान समाचार/उज्जवल/सुनील-hindusthansamachar.in