कांगड़ा में 1905 के भूकंप में काल का ग्रास बने लोगों को अर्पित की श्रद्धाजंलि

कांगड़ा में 1905 के भूकंप में काल का ग्रास बने लोगों को अर्पित की श्रद्धाजंलि
tributes-paid-to-those-who-became-the-grasps-of-kaal-in-the-1905-earthquake-in-kangra

धर्मशाला, 04 अप्रैल (हि.स.)। कांगड़ा जिला में चार अप्रैल 1905 को आए विनाशकारी भूकंप में काल का ग्रास बने असंख्य लोगों की याद में रविवार को जिला प्रशासन सहित आम लोगों ने मृतकों को श्रद्धाजंलि अर्पित की। इस अवसर पर एसडीएम कांगड़ा अभिषेक वर्मा सहित नगर परिषद कांगड़ा के प्रतिनिधियों ने मृतकों की याद में बनाए गए स्मारक स्थल पर भावभीनी श्रद्धाजंलि दी। गौरतलब है कि वर्ष 1905 में आज के ही दिन चार अप्रैल को विनाशकारी भूकंप ने खासकर कांगड़ा और आस-पास के क्षेत्रों में भारी तबाही मचाई थी। इस दौरान कांगड़ा के ऐतिहासिक कांगड़ा किला, मां बज्रेश्वरी मंदिर सहित कई छोटे बड़े मंदिरों और निजी व सार्वजनिक इमारतों को भारी नुकसान पंहुचा था। इस प्रलयकारी भूकंप की बजह से कांगड़ा व आस-पास के क्षेत्रों के करीब 20 हजार लोग काल का ग्रास बने थे जबकि कई लोग अपंग भी हुए थे। हिन्दुस्थान समाचार/सतेंद्र/सुनील