पश्चिम बंगाल में राजनीतिक हिंसा का सामना कर रहे कार्यकर्ताओं के साथ खड़ा हो पूरा दल : धूमल

पश्चिम बंगाल में राजनीतिक हिंसा का सामना कर रहे कार्यकर्ताओं के साथ खड़ा हो पूरा दल : धूमल
the-whole-party-should-be-standing-with-activists-facing-political-violence-in-west-bengal-dhumal

हमीरपुर, 04 मई (हि.स.)। हिमाचल प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री प्रोफेसर प्रेम कुमार धूमल ने कहा कि पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव परिणाम के बाद जो हो रहा है, वह बहुत ही शर्मनाक है। यह पूरे राष्ट्र के लिए खतरे की घंटी है कि चुनाव जीतने के बाद कोई शासक दल अन्य दलों के कार्यकर्ताओं के लिए कितना खतरनाक हो सकता है। किसी भी राजनीतिक दल के कार्यकर्ताओं के साथ ऐसा हो सकता है, जैसा पश्चिम बंगाल में हो रहा है। महिलाओं के साथ ज्यादती की जा रही है। कार्यकर्ताओं को मारा-पीटा जा रहा है। उनके घर जला दिए गए हैं। भाजपा कार्यालय तोड़े जा रहे हैं। यह बहुत ही दर्दनाक और वीभत्स है। पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव परिणाम के बाद भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं को विशेष रूप से निशाना बनाकर की जा रही हिंसा से आहत होकर वरिष्ठ भाजपा नेता एवं पूर्व मुख्यमंत्री प्रोफेसर प्रेम कुमार धूमल ने मंगलवार को हमीरपुर संसदीय क्षेत्र कि आयोजित एक विशेष वर्चुअल बैठक में संपूर्ण पार्टी का पश्चिम बंगाल के पार्टी कार्यकर्ताओं के लिए खड़े होने का आह्वान करते हुए यह बात कही है। प्रो. धूमल ने कहा कि पश्चिम बंगाल में पार्टी कार्यकर्ताओं को राजनीतिक द्वेष से परिपूर्ण वीभत्स एवं नृशंस हिंसा का सामना करना पड़ रहा है, जो बहुत ही दर्दनाक है। इस मुश्किल घड़ी में संपूर्ण पार्टी को उनके साथ खड़ा हो जाना चाहिए। पश्चिम बंगाल में सरकार बनाने जा रही तृणमूल कांग्रेस पार्टी की घोर निंदा करते हुए पूर्व सीएम ने कहा कि भाजपा कार्यकर्ताओं पर की जा रही नृशंस हिंसा टीएमसी के निकम्मेपन और निर्दयता को दर्शाती है। धूमल ने केंद्र सरकार से मांग करते हुए कहा कि पार्टी कार्यकर्ता पश्चिम बंगाल में हो रही हिंसा के विरुद्ध धरना प्रदर्शन करें और राष्ट्रपति को ज्ञापन भेजें। केंद्र को भी हस्तक्षेप करना चाहिए कि पश्चिम बंगाल में और क्या किया जा सकता है। हिन्दुस्थान समाचार/सुनील