the-rising-cases-of-corona-once-again-frightened-tourism-and-other-businessmen-triggering-a-fear-of-lockdown
the-rising-cases-of-corona-once-again-frightened-tourism-and-other-businessmen-triggering-a-fear-of-lockdown
हिमाचल-प्रदेश

कोरोना के बढ़ते मामलों ने एक बार फिर डराए पयर्टन व अन्य कारोबारी, सताने लगा लॉकडाउन का भय

news

धर्मशाला, 03 अप्रैल (हि.स.)। प्रदेश सहित कांगड़ा जिला में बढ़ते कोरोना के मामलों से पयर्टन सहित अन्य कारोबारियों को एक बार फिर से लॉकडाउन का भय सताने लगा है। बढ़ते कोरोना मामलों और सरकार व प्रशासन की ओर से हालात संभालने को की जा रही सख्ती के चलते होटल, रेस्टोरेंट, बैंक्विट हॉल, ट्रेकिंग, दुकानदार सहित तमाम बड़े कारोबारी जो बाहरी पर्यटकों व स्थानीय लोगों की आवाजाही से चलते हैं, उन पर संकट के बादल मंडराने लगे हैं। लॉक डाउन और कर्फ्यू के डर से यह कारोबारी सहमे हुए हैं। कारोबारियों का कहना है कि वह पहले ही लाखों-करोड़ों के कर्जे में दबे हुए हैं ऐसे में यदि एक बार फिर लॉकडाउन लग गया तो कर्जा भरना मुश्किल हो जाएगा। बदले हालात में पहले ही धंधा मंदा होने के कारण परेशानी झेल रहे इन कारोबारियों के होंठ सूखने लगे हैं। उधर होटल एसोसिएशन के अध्यक्ष अश्विनी बांबा का कहना है कि पिछले एक साल से अधिक समय से कोरोना संक्रमण से होटल रेस्टोरेंट सहित पर्यटन कारोबार से जुड़े सभी कारोबारियों की हालत खराब कर रखी है। उनका कहना है कि यदि फिर से यहां कर्फ्यू या लॉकडाउन जैसे हालात बनते हैं तो कारोबार चलाना मुश्किल हो जाएगा। उनका कहना है कि होटलों व रेस्टोरेंट में काम करने वाले सैंकड़ों लोगों के परिवार भी इस तरह की स्थिति से बुरी तरह से प्रभावित होते हैं। गौर हो कि पिछले साल भी कोरोना के चलते प्रदेश भर में सबसे अधिक नुकसान होटल कारोबारियों और पयर्टन गतिविधियों से जुड़े को उठाना पड़ा था। हालांकि अक्टूबर से दिसम्बर के बीच में हालात कुछ बेहतर हुए थे लेकिन एक बार फिर जिस गति से कोरोना संक्रमण के मामले बढ़ने लगे हैं उससे इन कारोबारियों को अपनी रोजी रोटी को लेकर डर सताने लगा है। हिन्दुस्थान समाचार/सतेंद्र/उज्जवल