strict-adherence-to-proper-corona-behavior-jairam-thakur
strict-adherence-to-proper-corona-behavior-jairam-thakur
हिमाचल-प्रदेश

कोरोना संबंधी उचित व्यवहार का कड़ाई से करें पालन : जयराम ठाकुर

news

शिमला, 05 मार्च (हि.स.)। कोरोना के मामलों में फिर से तेजी और पड़ोसी राज्यों में भी इसके लगातार पैर पसारने से हिमाचल प्रदेश सरकार की चिंताएं एक बार फिर बढ़ गई हैं। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने राज्य में कोरोना के मामलों में फिर से बढ़ोतरी पर विधानसभा में चिंता जताई और लोगों से कोविड संबंधी उचित व्यवहार का कड़ाई से पालन करने की अपील की। मुख्यमंत्री ने शुक्रवार को सदन में एक विशेष वक्तव्य के माध्यम से कहा कि कोरोना के मामलो में फिर से तेजी चिंता का विषय है। उन्होंने कहा कि परस्पर सामाजिक दूरी, मास्क का प्रयोग और हाथों को नियमित तौर पर धोते रहने से इस संक्रमण से बचा जा सकता है। उन्होंने सभी जन प्रतिनिधियों से आग्रह किया कि वे कोविड संबंधी उचित व्यवहार का संदेश जन-जन तक पहुंचाएं, ताकि प्रदेश में कोरोना की एक और लहर को रोका जा सके। जयराम ठाकुर ने कहा कि कल कैबिनेट की बैठक में प्रदेश में कोरोना की स्थिति पर विस्तारपूर्वक चर्चा हुई और निर्णय लिया गया कि कोरोना के बढ़ते मामलों पर निरंतर निगरानी रखी जाएगी और कैबिनेट की अगली बैठक में स्थिति की समीक्षा कर आवश्यकतानुसार कदम उठाए जाएंगे। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में हाल ही में हुई कोरोना मामलों में बढ़ोतरी कुछ समूहों में एक साथ बड़ी संख्या में मामलों की पुष्टि की नतीजा है। उन्होंने कहा कि कांगड़ा का ग्यातो मठ में तिब्बतियन समुदाय द्वारा तिब्बितियन नववर्ष का समारोह मनाए जाने के उपरांत 154 कोरोना पॉजिटिव मामले पाए गए। इसी प्रकार बिलासपुर जिला के एक औद्योगिक संस्थान में भी एक साथ 16 कोरोना पॉजिटिव मामलों की पुष्टि हुई है। शिमला और सिरमौर जिले के शिक्षण संस्थानों के छात्रावासों में भी बड़ी संख्या में कोरोना मामले पाए गए हैं। इसके दृष्टिगत सरकार ने सभी शिक्षण संस्थानों और अन्य सामाजिक गतिविधियों की अनुमित प्रदान करने के उपरांत जिलों को कोरोना के प्रति कड़ी निगरानी रखने तथा जांच को बढ़ाने के निर्देश दिए हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना संक्रमण ने विचित्र स्थिति पैदा की है और कभी यह जाता लगता है तो कभी आता लगता है। इससे पहले, विधायक राकेश सिंघा ने प्वाइंट ऑफ आर्डर के तहत कोरोना संक्रमण को लेकर मामला उठाया। उन्होंने कहा कि कोरोना के मामलों में फिर से उछाल आ रहा है और स्कूल के बच्चे इसकी चपेट में आ रहे हैं। उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस के फैलने के दूसरे दौर में कई लोगों की मौत हुई थी और अब शिक्षण संस्थान खुलने से फिर से ये मामले बढ़ रहे हैं और यह चिंता की बात है। सिंघा ने कहा कि बच्चों के जरिए कहीं कोरोना संक्रमण के मामले न फैले, इसे लेकर सतर्क रहना है। हिन्दुस्थान समाचार/उज्ज्वल