शिमला के रोहड़ू में पति-पत्नी ने एक साथ फंदा लगाकर की आत्महत्या
शिमला के रोहड़ू में पति-पत्नी ने एक साथ फंदा लगाकर की आत्महत्या
हिमाचल-प्रदेश

शिमला के रोहड़ू में पति-पत्नी ने एक साथ फंदा लगाकर की आत्महत्या

news

शिमला, 17 जुलाई (हि.स.)। शिमला के रोहड़ू उपमंडल में दिल दहला देने वाला मामला सामने आया है। पुजारली क्षेत्र के कलगांव की रहने वाली एक दंपति ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। दोनों के शव एक ही फंदे पर लटके मिले। शुक्रवार को शील गांव के जंगल में देवदार के पेड़ पर दोनों के शव फंदे से झूल रहे थे। इस घटना से क्षेत्र में हड़कंप मच गया। मृतकों की शिनाख्त शांता कुमार (42) और मीना (40) पत्नी शांता कुमार के रूप में हुई है। मामले का पता लगने पर डीएसपी रोहड़ू सुनील नेगी के नेतृत्व में पुलिस टीम घटनास्थल पर पहुंची और शवों को कब्जे में लेकर पड़ताल शुरू की। शवों को पोस्टमार्टम के लिए रोहड़ू अस्पताल भेेजा गया है। पुलिस ने घटनास्थल से सुसाइड नोट भी बरामद किया है। पुलिस के मुताबिक देवदार के पेड़ पर एक ही रस्सी का फंदा बनाकर दंपति ने आत्महत्या की। पुलिस पता लगाने में जुट गई है कि दंपति ने आखिरकार जान देने का यह खौफनाक कदम क्यों उठाया। जिला पुलिस अधीक्षक ओमा पति जंबाल ने बताया कि दंपति के शवों को पोस्टमार्टम के लिए रोहड़ू अस्पताल लाया गया है। इस घटना को लेकर मामला दर्ज कर लिया गया है और जांच जारी है। उल्लेखनीय है कि हिमाचल प्रदेश में कोरोना महामारी के बीच आत्महत्या की घटनाओं में काफी उछाल आया है। राज्य में गत छह माह में 300 से अधिक आत्महत्या के मामले सामने आए हैं। हिमाचल पुलिस के ताजा आंकड़ों के मुताबिक लाॅकडाउन के दौरान अप्रैल और मई महीने में 121 लोगों ने मौत को गले लगाया। ज्यादातर मामलों में आत्महत्या करने वाले युवा हैं। साल 2019 में प्रदेश में आत्महत्या से जुड़े 563 मामले दर्ज किए गए थे। हिन्दुस्थान समाचार/उज्जवल/सुनील-hindusthansamachar.in