गर्मी शुरू होते ही पेयजल स्त्रोतों में पानी की कमी

गर्मी शुरू होते ही पेयजल स्त्रोतों में पानी की कमी
shortage-of-water-in-drinking-water-sources-as-soon-as-summer-starts

नाहन ,12 अप्रैल (हि. स.)। सिरमौर जिला में भी इस बार बारिश बहुम कम होने के चलते नदियों व प्राकृतिक पेयजल स्त्रोतों का जल स्तर बहुत अधिक गिरने लगा है। हालांकि गर्मी का मौसम शुरू हो चुका है। लिहाजा नदियों सहित पेयजल स्त्रोतों में पानी की भारी कमी को लेकर सरकार व जल शक्ति विभाग ने पूरे प्रयास शुरू कर दिए है, ताकि लोगों को पेयजल संकट का सामना न करना पड़े। इसको लेकर ऊर्जा मंत्री सुखराम चौधरी ने भी सिरमौर जिला के शक्ति विभाग को गर्मियों में होने वाली पेयजल समस्या को लेकर अपनी तैयारियां पूरी रखने के निर्देश जारी किए है। मीडिया से बात करते हुए ऊर्जा मंत्री सुखरामचौधरी ने कहा कि इस बार बारिश बहुत कम हुई है। लिहाजा प्राकृतिक जल स्त्रोत सूख जाएंगे। ऐसे में जल शक्ति विभाग को निर्देश दिए गए है कि गर्मियों के मौसम में जिन प्राकृतिक पेयजल स्त्रोतों सहित अन्य स्त्रोतों में पानी की भारी कटौती होती है, तो उसका क्या उपाय हो सकता है, उसकी सारी योजना विभाग बनाकर रखें। कहां से पानी को जोड़ सकते हैं, किस पेयजल योजना से लिंक कर सकते हैं, ये सारे निर्देश विभाग को दिए गए हैं, ताकि आने वाले समय में पीने के पानी की जो दिक्कत आने वाली हैं, उसका समाधान समय रहते निकाला जा सके। ऊर्जा मंत्री सुखराम चौधरी ने कहाकि बरिशें न होने के कारण पानी के संभावित कमी को देखते हुए जल शक्ति विभाग को अभी से विभिन्न योजनाओं पर कार्य करने के निर्देश दिए गए हैं ताकि जल सरंक्षण के साथ साथ लोगो को जल से कोई दिक्क्त न आये। बता दें कि सिरमौर में कई नदियों में पानी के स्तर में कमी आ रही है। जलस्तर में भी बारिश न होने की वजह से गिरावट आई है। ऐसे में यदि आने वाले दिनों में अच्छी बारिश नहीं होती है, तो गर्मियों के मौसम में गंभीर पेयजल संकट का सामना करना पड़ सकता है, जिसके समाधान के लिए सरकार के निर्देशों पर जल शक्ति विभाग तैयारियां में जुटा हुआ है। हिन्दुस्थान समाचार /जितेंदर/सुनील