scholarship-scam-cbi39s-three-bank-managers-questioned-in-shimla-throughout-the-day
scholarship-scam-cbi39s-three-bank-managers-questioned-in-shimla-throughout-the-day
हिमाचल-प्रदेश

छात्रवृत्ति घोटाला : सीबीआई की शिमला में तीन बैंक प्रबंधकों से दिन भर पूछताछ

news

शिमला, 17 फरवरी (हि.स.)। केंद्रीय जांच एजेंसी सीबीआई ने 265 करोड़ के छात्रवृत्ति घोटाले में चंडीगढ़ के 3 बैकों के बेंक प्रबंधकों से बुधवार को सीबीआई शिमला थाना में पुछताछ की है। सीबीआई ने पंजाब नेशनल बैंक, इलाहाबाद बैंक और बेंक आफ बड़ोदा के बैंक प्रबंधको को शिमला सीबीआई थाना में पुछताछ के लिए तलब किया था। सीबीआई ने शिमला थाना में चंडीगढ़ के इन तीनो बैकों के प्रबंधको दिनभर बारी बारी से पुछताछ की है। सीबीआई के अधिकारियों ने इन तीनो बैंक प्रबंधको से सवाल ज्वाब किए की आखिर बेंको में छात्रो के फर्जी खाते क्यो खोले गए और बेंक खाते खोलते समय क्या क्या दस्तावेज लिए गए । बैंक में अगर छात्रो के खाते खोल ही दिए तो छात्रो के खाते में आने वाली छात्रवृत्ति को बैंक में खोले गए मार्किटिग सोल्यूशन स्कील डवेलपमेंट सोसायटी के खातें में क्यो छात्रवृत्ति का पैसा ट्रांसफर कर दिया। सीबीआई ने यह भी पुछा की छात्रवृत्ति का पैसा ट्रांसफर करने के लिए क्यों मार्किटिग सोल्यूशन स्कील डवेलपमेंट सोसायटी का फर्जी खाता खोला गया। सीबीआई ने यहां तक भी पुछा की इस फर्जीवाड़े को करने के लिए संस्थान की तरफ से कितनी कितनी रकम दी गई है । सीबीआई ने फिर से उक्त तीनो बैंक प्रबधको को बुलाने पर पुटताछ के लिए हाजिर होने को कहा है । बहरात अभी इस फजीवाड़े में चंडीगढ़ के ही दो और बैंक प्रबंधको को पुछताछ के लिए शिमला सीबीआई थाना बुलाया है। सूत्रों के अनुसार सीबीआई की पुछताछ पुरी होने पर बैंक प्रबंधको की हिरासत में भी ले सकती है । उल्लेखनीय है कि सीबीआई 265 करोड़ के छात्रवृत्ति घोटाले की जांच कर रही है । सीबीआई ने नाइलेट के नाम पर चल रहे नौ फर्जी शिक्षण संस्थानों के तीन निदेशकों को गिर तार किया है जो अभी पांच दिन के सीबीआई रिमांड पर है । सीबीआई द्वारा गिरफ़तार किए गए आरोपियों में शिक्षण संस्थानों के निदेशक कृष्ण कुमार, राजदीप सिंह और बबिता राज्टा शामिल हैं। बबिता राज्टा मुखय आरोपी अरविंद राज्टा की पत्नी है। इन तीनो पर प्रदेश में फर्जी संस्थान खोलकर करीब 30 करोड़ की विभिन्न योजनाओं के तहत विद्यार्थियों को मिलने वाली छात्रवृत्ति का आरोप और बिना मान्यता संस्थान चलाने सहित फर्जी दाखिलों के नाम पर करोड़ों की छात्रवृत्ति हड़पने का आरोप है । सीबीआई निदेशक कृष्ण कुमार और राजदीप सिंह के मोहाली स्थित ओर बबिता राज्टा के भाई राकेश गाज्टा के कोटखाई स्थित घर पर दबिश देकर अहम दस्तावेज कब्जे में ले चुकी हैं। निजी कंपनी चलाने वाले अरविंद राज्टा के भाई के हिस्सेदारों के ढली स्थित दो घरों में भी दबिश देकर कई महत्वपूर्ण दस्तावेज कब्जे में लिए गए है । हिन्दुस्थान समाचार/उज्ज्वल/सुनील-hindusthansamachar.in