सिरमौर में महिला समूह बना रही इको  फ्रेंडली राखियां
सिरमौर में महिला समूह बना रही इको फ्रेंडली राखियां
हिमाचल-प्रदेश

सिरमौर में महिला समूह बना रही इको फ्रेंडली राखियां

news

नाहन, 27 जुलाई (हि. स.)। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आत्मनिर्भर बनने और लोकल से वोकल को लेकर बड़ी बात कही थी ताकि देश की अन्य देशों पर निर्भरता खत्म हो और साथ ही स्थानीय स्तर पर रोजगार का भी सृजन हो। इसी को लेकर सिरमौर जिला में प्रशाशन ने एक पहल की है जिसके अंतर्गत मेड इन सिरमौर के नाम से लोकल से वोकल के प्रयास किया जा रहे हैं। जिला में नाहन व पच्छाद से चयनित महिला संव्य सहायता समूहों को चीड़ के पत्तों व सरसों के बीज से राखी बनाने को प्रेरित किया गया जोकि इको फ्रेंडली हैं और बाजार की राखियों से बेहतर भी हैं। इन राखियों में चीड़ के पत्तों को डेकोरेट करके उनमे सरसों के बीज लगाए गए हैं जो जब भी राखी को निकालेंगे तो जहाँ बीज गिरेंगे वहां कुछ समय बाद पौधे भी उगेंगे। इसी उदेशीय के साथ एक कार्य शुरू किया गया है। तीन अगस्त तक डीआरडीए भवन नाहन में इन राखियों की प्रदर्शनी एवं बिक्री स्टाल लगाया गया है। उपायुक्त सिरमौर डॉ आर के परुथी ने बतायाकि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के एटीएम निर्भर अभियान वलोकल से वोकल को लेकर जिला में यह प्रयास किया गया है। महिलाएं ये राखी स्थानीय वस्तुओं से बना रही हैं और अब इनकी प्रदर्शनी भी लगाई जाएगी इससे महिलाओं की आय में भी वृद्धि होगी। उन्होंने बतायाकि इसके इलावा बांस के प्रयोग को लेकर भी जिला में कार्य किया जा रहा है। हिन्दुस्थान समाचार/जितेंद्र/सुनील-hindusthansamachar.in