आनलाइन मिलेगा माता चिंतपूर्णी मंदिर का प्रसाद, मुख्यमंत्री ने किया ‘आनलाइन प्रसाद छिन्नमस्तिका भोग’ का शुभारंभ
आनलाइन मिलेगा माता चिंतपूर्णी मंदिर का प्रसाद, मुख्यमंत्री ने किया ‘आनलाइन प्रसाद छिन्नमस्तिका भोग’ का शुभारंभ
हिमाचल-प्रदेश

आनलाइन मिलेगा माता चिंतपूर्णी मंदिर का प्रसाद, मुख्यमंत्री ने किया ‘आनलाइन प्रसाद छिन्नमस्तिका भोग’ का शुभारंभ

news

शिमला, 27 जुलाई (हि.स.)। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने सोमवार को शिमला से वीडियो काॅन्फ्रेंसिंग के माध्यम से ऊना जिला के माता चिंतपूर्णी मंदिर के ‘आनलाइन प्रसाद छिन्नमस्तिका भोग’ का शुभारंभ किया। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने कहा कि कोविड-19 महामारी के दृष्टिगत प्रदेश सरकार ने राज्य में सामाजिक भीड़ और संक्रमण के फैलाव को रोकने की दिशा में सभी मंदिरों और धार्मिक स्थलों को बंद रखा है। उन्होंने कहा कि यद्यपि प्रदेश के अधिकतर धार्मिक स्थल श्रद्धालुओं को आॅनलाइन दर्शन की सुविधा उपलब्ध करवा रही है, परंतु डाक विभाग के समन्वय से श्रद्धालुओं को प्रसाद प्रदान करने की सुविधा का शुभारंभ पहली बार किया गया है। जयराम ठाकुर ने कहा कि प्रदेश के मंदिरों में विशेषकर सावन अष्टमी मेले के दौरान देशभर से लाखों लोग आते थे, परंतु इस बार मंदिर बंद है। उन्होंने श्रद्धालुओं को प्रसाद की होम डिलीवरी सेवा प्रदान करने के ऊना जिला प्रशासन के प्रयासों की सराहना की। उन्होंने प्रसाद की आनलाइन डिलीवरी के लिए भारतीय डाक विभाग के सहयोग के लिए भी आभार व्यक्त किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि माता चिंतपूर्णी मंदिर क्षेत्र का प्रमुख पवित्र धार्मिक स्थल है, जहां पूरे विश्व से पर्यटक आते हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि श्रद्धालु अब दर्शन और प्रसाद के लिए आनलाइन आवेदन कर अपने घर पर ही इस धार्मिक स्थल का प्रसाद प्राप्त कर सकेंगे। उन्होंने कहा कि इसके साथ ही हिमाचल प्रदेश माता वैष्णो देवी श्राइन बोर्ड और बाबा काशी विश्वनाथ, बनारस के बाद ‘प्रसाद’ की होम डिलीवरी की सुविधा देने वाला अग्रणी राज्यों में एक बन गया है। हिन्दुस्थान समाचार/उज्जवल/सुनील-hindusthansamachar.in