People from two panchayats intent on boycotting rural elections
People from two panchayats intent on boycotting rural elections
हिमाचल-प्रदेश

ग्रामीण चुनावों का बहिष्कार करने पर आमादा दो पंचायतों के लोग

news

सोलन, 14 जनवरी ( हि. स.) । जिला सोलन की विधानसभा क्षेत्र अर्की में अलग पंचायत की मांग पूरी न होने के चलते ग्राम पंचायत शहरोल के वार्ड धैना व ग्राम पंचायत बलेरा के वार्ड झुण्डला के ग्रामीणों ने पंचायतो में होने वाले चुनावों में मतदान का पूर्ण तौर पर बहिष्कार करने का मन बना लिया है। ग्राम सुधार समिति धैना के अध्यक्ष कुलदीप शर्मा व अन्य ग्राम वासियो ने नायब तहसीलदार रामलाल के माध्यम से एक ज्ञापन मुख्यमंत्री हिमाचल प्रदेश को दिया। इस बारे कुलदीप शर्मा ने कहा कि ग्राम पंचायत बलेरा के वार्ड झुडला व पंचायत शहरोल के वार्ड धैना के सैकड़ों ग्रामीण वर्ष 2009 से लगातार पंजपिपलु स्तिथ वार्ड धैना को लगातार अलग पंचायत बनाने की मांग सरकार व प्रशाषन करते आ रहे हैं। लेकिन सरकार व प्रशासन केवल आज तक कोरे आश्वाशन देता रहा है। परन्तु धरातल पर कुछ नही किया। ज्ञात रहे कि इन दो वार्ड के लोगो को भौगोलिक दृष्टि के चलते किसी भी पंचायत सम्बंधित कार्य के लिए लगभग 12 से 15 किलोमीटर जंगली रास्ते से पैदल पंचायत मुख्यालय पर पहुंचना पड़ता हैं। इस कारण अलग पंचायत की मांग की जा रही है। लेकिन सरकार व प्रशासन की इस प्रकार ग्रामीणों की अलग पंचायत की मांग को दरकिनार कर सौतेला व्यवहार करने के कारण ग्रामीणों में गहरा रोष व्याप्त है जिसके कारण इन दो वार्डो के ग्रामीणों ने इस बार मतदान का पूर्ण बहिष्कार करने का मन बना लिया है तथा दोनों वार्डो के कोई भी निवासी पंचायती चुनावों में मतदान नही करेगा । हिन्दुस्थान समाचार /संदीप/सुनील-hindusthansamachar.in