प्रधानमंत्री मोदी के मुफत वैक्सीन के ऐलान से धराशायी हुआ विपक्ष : विनोद ठाकुर

प्रधानमंत्री मोदी के मुफत वैक्सीन के ऐलान से धराशायी हुआ विपक्ष : विनोद ठाकुर
opposition-collapsed-by-pm-modi39s-announcement-of-free-vaccine-vinod-thakur

शिमला, 09 जून (हि.स.)। भाजपा ने कहा है कि कोरोना आपदा में अवसर ढूंढने सियासत करने वाले विपक्षी दल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मुफत वैक्सीन के ऐलान धराशायी हो गए हैं। पार्टी का कहना है कि विपक्ष ने जनता का हितैषी होने का ड्रामा रच कर अपनी राजनीतिक महत्वाकांक्षाओं के चलते लोगों की जान से खिलवाड़ किया है और अब उनका चेहरा बेनकाब हो गया है। प्रदेश भाजपा प्रवक्ता विनोद ठाकुर ने बुधवार को एक बयान में कहा कि कांग्रेस व उनके सहयोगी दल राज्यों में बढ़ते कोरोना के कहर को लगाम लगाने की बजाए मोदी को बदनाम करने की रणनीति से काम कर रहे हैं। विपक्षी पार्टियों ने लाखों लोगों की जान को दांव पर लगाने से भी परहेज नहीं किया। महाराष्ट्र, राजस्थान और पंजाब इसके बड़े उदाहरण हैं। राजनीतिक द्वेष में कांग्रेस यह भी भूल गई कि कोरोना किसी को नहीं बख्श रहा। उन्होंने कहा कि पंजाब समेत सभी केंद्र शासित राज्यों में पीएम केयर्स फंड से भेजे गए करोड़ों के स्वास्थ्य उपकरण धूल फांकते रहे, वैक्सीन डस्टबिन में फेंकी जाती रही। पहले केंद्र सरकार की टीकाकरण नीति पर सवाल उठाकर राज्यों को इसकी जिम्मेदारी देने की मांग की। जब टीकाकरण को संभाल नहीं पाए तो फिर केंद्र सरकार पर ही दोषारोपण करने लगे। शायद कांग्रेसी ये भूल गए कि जनता सब देख रही है। उन्होंने कहा कि पंजाब में केंद्र सरकार से मिली वैक्सीन की 80 हजार डोज मुनाफाखोरी के लिए निजी अस्पतालों को बेच दी गई। फिर जनता से एक डोज के हजारों रुपये वसूले गए। अब पोल खुली तो कोई जिम्मेदारी लेने को तैयार नहीं। सरकार के मंत्रियों की जानकारी के बिना गरीबों को लगने वाली वैक्सीन कैसे बिक गई इस पर भी कोई संतोषजनक जवाब न मिलना यह बताता है कि इस मुनाफाखोरी में मुख्यमंत्री से लेकर कांग्रेस के आला नेता तक शामिल थे। हिन्दुस्थान समाचार/उज्जवल/सुनील