18 घंटे का सफर अब सात घंटें में पूरा कर पाएंगे लोग

18 घंटे का सफर अब सात घंटें में पूरा कर पाएंगे लोग
now-people-will-be-able-to-complete-18-hours-journey-in-seven-hours

चंबा, 11 जून (हि.स)। जनजातीय क्षेत्र पांगी से चंबा को जोड़ने वाले 14 हजार 500 फीट ऊंचे साचपास को लोक निर्माण विभाग ने वाहनों की आवाजाही के लिए बहाल कर दिया है। साचपास के खुलने से अब पांगी के लोगों को समय की बचत होगी, वहीं आर्थिक तौर पर भी राहत मिलेगी। स्थानीय लोगों वीर सिंह, प्रेम सिंह, कवाली राम, राकेश कुमार शाम चन्द, मुंशी राम, गौतम सिंह ध्यान सिंह, रोशन लाल, वीरेंद्र राज व धर्म चंद ने कहाऋल कि साचपास मार्ग के बहाल हो जाने से उनकी काफी मुश्किलें कम हो गई हैं। क्योंकि मार्ग बंद होने से वाया जम्मू सफर करना पड़ रहा था। साचपास मार्ग के बंद होने से लोगों को वाया जम्मू या अटल टनल रोहतांग से करीब सात सौ किलोमीटर का सफर कर 18 से बीस घंटे के बाद प्रदेश के अन्य जिलों सहित जिला मुख्यालय पहुंचना पड़ता है, जबकि साचपास से 172 किलोमीटर का सफर सात से आठ घंटे में तय हो जाता है। मार्ग बहाली के दौरान 67 किलोमीटर सड़क से बर्फ और करीब 17 गलेशियरों को काटने में करीब तीन माह का समय लगा। काम शुरू करने के बाद दो तीन बार बर्फबारी के करण बहाल मार्ग से दोबारा बर्फ हटानी पड़ी। साचपास की ऊंचाई ज्यादा होने के कारण तापमान शून्य से 15 से 20 डिग्री नीचे चला जाता है उस समय काम करना काफी कठिन होता है। लोक निर्माण विभाग पांगी अधिशासी अभियंता देवराज भारती ने कहा कि 14500 फीट ऊंचे चंबा-पांगी साचपास मार्ग को छोटे वाहनों के लिए बहाल कर दिया गया है। विकट परिस्थितियों के साथ शून्य डिग्री तापमान के बीच मार्ग बहाली में जुटे विभागीय कर्मियों पर गर्व है जिन्होंने कड़ी मशक्कत कर लोगों को सौगात दी है। हिन्दुस्थान समाचार/सोमी/सुनील