kangra-district-will-be-first-tb-free-malnutrition-free-and-leprosy-free-anurag
kangra-district-will-be-first-tb-free-malnutrition-free-and-leprosy-free-anurag
हिमाचल-प्रदेश

कांगड़ा जिला सबसे पहले होगा टीबी मुक्त, कुपोषण मुक्त और कुष्ठ रोग मुक्त : अनुराग

news

धर्मशाला, 23 फरवरी (हि.स.)। केंद्रीय वित्त एवं कारपोरेट राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर ने कांगड़ा जिला को देशभर में सबसे पहले टीबी मुक्त, कुष्ठ रोग तथा कुपोषण मुक्त बनाने के लिए विशेष अभियान आरंभ करने के निर्देश अधिकारियों को दिए हैं। इसमें जनप्रतिनिधियों तथा आम जनमानस का सहयोग भी सुनिश्चित करने के लिए कहा गया है। केंद्रीय राज्य वित्त मंत्री अनुराग ठाकुर ने मंगलवार को डीआरडीए सभागार में जिला स्तरीय समन्वय एवं निगरानी की समिति की बैठक की अध्यक्षता करते हुए कहा कि कांगड़ा जिला प्रदेश का सबसे बड़ा जिला है तथा इस जिला में विकास की गति में तेजी लाने से पूरे प्रदेश को लाभ मिलेगा। अनुराग ठाकुर ने कहा कि सभी विभागीय अधिकारियों को आपसी समन्वय के साथ योजनाओं एवं कार्यक्रमों के कारगर कार्यान्वयन के लिए उचित कदम उठाने चाहिए। उन्होंने कहा कि कृषि तथा बागबानी में स्वरोजगार की असीम संभावनाएं हैं तथा इस दिशा में कृषि तथा बागबानी अधिकारियों को बंजर पड़ी भूमि के उपयोग के लिए सार्थक प्रोजेक्ट तैयार करके युवाओं को कृषि तथा बागबानी के लिए प्रेरित करना चाहिए। उन्होंने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि आयुष्मान तथा हिम केयर योजना का सुचारू क्रिर्यान्वयन सुनिश्चित किया जाए तथा पात्र लोगों को इस योजना के लाभ बारे भी विस्तार से जानकारी प्रदान की जाए ताकि किसी भी गरीब तथा निर्धन व्यक्ति को उपचार से वंचित नहीं रहना पड़े। केंद्रीय विवि परिसर निर्माण के लिए कारगर कदम उठाएं अधिकारी केंद्रीय वित्त एवं कारपोरेट मामले राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर ने केंद्रीय विश्वविद्यालय के देहरा तथा धर्मशाला में स्थायी कैंपस निर्मित करने की सभी औपचारिकताएं पूर्ण करने में तेजी लाने के निर्देश विभागीय अधिकारियों को दिए हैं। इस बाबत केंद्रीय विवि प्रशासन, वन विभाग तथा जिला प्रशासन की एक आवश्यक बैठक आयोजित करने के दिशा-निर्देश भी दिए हैं। इस बैठक में केंद्रीय विश्वविद्यालय प्रशासन से भी केंद्रीय विश्वविद्यालय के भूमि अधिग्रहण, कैंपस निर्माण की डीपीआर इत्यादि के बारे में विस्तार से जानकारी ली गई तथा सभी औपचारिकताओं को शीघ्र पूर्ण करने के लिए कहा गया है ताकि विद्यार्थियों को किसी तरह की असुविधा नहीं झेलनी पड़े। हिन्दुस्थान समाचार/सतेंद्र/सुनील