मोदी सरकार की नीतियों से भारत बना मोबाइल मैन्यूफ़ैक्चरिंग हब : अनुराग ठाकुर

मोदी सरकार की नीतियों से भारत बना मोबाइल मैन्यूफ़ैक्चरिंग हब : अनुराग ठाकुर
मोदी सरकार की नीतियों से भारत बना मोबाइल मैन्यूफ़ैक्चरिंग हब : अनुराग ठाकुर

शिमला, 25 जुलाई (हि. स.)। केंद्रीय वित्त एवं कॉरपोरेट अफ़ेयर्स राज्यमंत्री अनुराग सिंह ठाकुर ने कहा है कि भारत में बढ़ते विदेशी निवेश व मोबाइल मैन्यूफ़ैक्चरिंग के क्षेत्र में विदेशी कम्पनियों द्वारा भारत पहली पसंद रखने के पीछे मोदी सरकार की नीतियों हैं। अनुराग ठाकुर ने कहा कि सूचना क्रांति के इस दौर में मोबाइल फ़ोन आज बुनियादी ज़रूरत का रूप ले चुका है। यह सेक्टर ना सिर्फ़ लोगों के बीच सूचनाओं के आदान प्रदान के लिए क्रियाशील है बल्कि इसके माध्यम से लाखों लोगों को रोज़गार भी मिल रहा है। उद्योगों धंधों को बढ़ावा देने की मोदी सरकार की प्रभावशाली नीतियों का ही परिणाम है कि भारत अब दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा मोबाइल निर्माता देश बन गया है। भारत में अब तक 300 से ज़्यादा मोबाइल मैन्युफैक्चरिंग यूनिट्स का सेट अप हो चुकी है। भारत में 330 मिलियन से ज़्यादा मोबाइल हैंडसेट्स बनाए जा चुके हैं। उन्होने कहा कि साल 2014 से अगर इसकी तुलना की जाए तो उस वक्त देश में 60 मिलियन स्मार्टफोन बनाए गए थे और सिर्फ दो मोबाइल मैन्युफैक्चरिंग प्लांट भारत में थे।2014 में भारत में बने मोबाइल फोन की वैल्यू 3 बिलियन डॉलर थी। वहीं 2019 में यह वैल्यू 30 बिलियन डॉलर हो गई है। आज से कुछ वर्ष पहले वर्ष 2014 से पहले भारत दूसरे नंबर पर इलेक्ट्रॉनिक गुड्स का इंपोर्ट करता था। आज मोदी जी की नीतियों के कारण भारत मात्र 4,5 वर्षों में मोबाइल फोन का दुनिया भर दूसरा सबसे बड़ा उत्पादक बना है। हिन्दुस्थान समाचार/सुनील-hindusthansamachar.in

अन्य खबरें

No stories found.