himachal39s-budget-will-provide-job-to-the-unemployed-30-thousand-posts-will-be-recruited-a-dozen-new-schemes-announced
himachal39s-budget-will-provide-job-to-the-unemployed-30-thousand-posts-will-be-recruited-a-dozen-new-schemes-announced
हिमाचल-प्रदेश

हिमाचल के बजट में बेरोजगारों को सौगात, 30 हजार पदों पर होगी भर्तियां, एक दर्जन नई योजनाओं की घोषणा

news

शिमला, 06 मार्च (हि.स.)। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने शनिवार को हिमाचल प्रदेश का वितीय वर्ष 2021-22 के लिए 50192 करोड़ रूपये का कर मुक्त बजट पेश किया। बजट में बेरोजगारों के लिए रोजगार का पिटारा खोला गया है। मुख्यमंत्री ने अगले वितीय वर्ष में सरकारी क्षेत्र में 30 हजार भर्तियों की घोषणा की है। इनमें सबसे ज्यादा पद शिक्षा विभाग में भरे जाएंगे। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने बजट में घोषणा की है कि शिक्षा विभाग में विभिन्न शिक्षकों के चार हजार, और मल्टी टास्क पार्ट टाइम वर्कर के आठ हजार पद, स्वास्थ्य विभाग में विभिन्न श्रेणियों के चार हजार, लोकनिर्माण विभाग में मल्टी टास्क पार्ट टाइम वर्कर के पांच हजार पद, तथा जलशक्ति विभगा में पैरा फिटर, पंप आपरेट व मल्टी टास्क पार्ट टाइम वर्कर के 4 हजार पद भरे जाएंगे। इसके अलावा विभिन्न विभागों में खाली कार्यमूलक पदों को भी भरने का निर्णय लिया गया। इनमें पुलिस कर्मी, बिजली बोर्ड के तकनीकी पद, एचआरटीसी में चालक-परिचालक, कनिष्ट अभियंता, सहायक अभियंता, राजस्व विभाग के कर्मी, पशुपालन विभाग के डाॅक्टर व कर्मी, शहरी निकायों के लिए स्टाफ, पंचायतों के लिए तकनीकी सहायक, ग्राम रोजगार सहायक, जेओए आईटी, तकनीकी शिखा विभाग में विभिन्न श्रेणियों के शिक्षक व इंस्टरक्टर तथा चतुर्थ श्रेणी कर्मी शामिल हैं। बजट में निजी उद्योगों में सात हजार नौकरियाेें की घोषणा की गई हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि रोजगार मेलों व कैंपस साक्षात्कारों के माध्यम से सात हजार लोगों को निजी उद्योगों में नियुक्तियां दिलवाई जाएंगीं। मुख्यमंत्री ने बजट में एक दर्जन नई योजनाओं की घोषणा की है। वरिष्ठ महिलाओं के लिए सामाजिक सुरक्षा पेंशन का दायरा बढ़ाने के मकसद से स्वर्ण जयंती नारी संबल योजना शुरू की जाएगी। इस योजना के तहत 65 साल से 69 साल तक की आयु की सभी पात्र वरिष्ठ महिलाओं को बिना आय सीमा के एक हजार रूपये प्रति माह की दर से सामाजिक सुरक्षा पेंशन प्रदान की जाएगी। इसमें लगभग 60 हजार महिलाएं लाभान्वित होंगी। इस योजना पर 55 करोड़ रूपये खर्च होंगे। मुख्यमंत्री ने बेटियों के लिए शगुन नाम की योजना घोषित की है। इसके तहत अनुसचूचित जाति, जनजाति व अन्य पिछड़ा वर्ग के बीपीएल परिवारों की बेटियों केा विवाह के समय 31 हजार रूपये का अनुदान दिया जाएगा। इस योजना पर वर्ष में 50 करोड़ रूपये का खर्च प्रस्तावित है। मुख्यमंत्री ने स्वर्ण जयंती सूपर-100 योजना का विस्तार करते हुए नई योजना टाॅप 100 छात्रवृति योजना शुरू करने की घोषणा की है। इसके तहत सभी सरकारी स्कूलों से 5वीं कक्षा के उपरांत 100 प्रतिभाषाली छात्रों का चयन एससीआरटी द्वारा किया जाएगा। चयनित बच्चों को नियमित मूल्यांकन के आधार पर छात्रवृति प्रदान की जाएगी। मुख्यमंत्री ने बजट में एलान किया कि शिक्षा विभाग पायलट आधार पर विज्ञान, गणित और स्पोकन इंगलिश में विशेष कोर्स आरंभ किया जाएगा। इसके लिए आगामी वर्ष में विभिन्न माध्यमिक स्कूलों में भी 100 मैथ लैब्स स्थापित की जाएगी तथा बच्चों की बौद्विक क्षमता विकास के लिए शतरंज के खेल को प्रोत्साहित किया जाएगा। लाहौल-स्पीति बनेगा ईको टूरिज्म गंतव्य स्थल बजट में लाहौल-स्पीति को ईको टूरिज्म गंतव्य के रूप में विकसित करने का निर्णय लिया गया। इसके लिए सिस्सू में पर्यटक सूचना केंद्र तथा कला, संस्कृति व साहसिक खेल केंद्र का निर्माण किया जाएगा। इसी तरह उदयपुर, जिस्पा और काजा में वे साइड सुविधाओं, लाहौल में नई स्कीइंग साईट का चयन, लाहौल में आईस स्केटिंग रिंग स्थापित किया जाएगा। एचआरटीसी को मिलेंगे 377 करोड़ घाटे में चल रही एचआरटीसी को प्रदेश सरकार 377 करोड़ रूपये का प्रस्ताव रखा गया है। अगले वितीय वर्ष के दौरान एचआरटसी में पुरानी बसों की जगह पर इलैक्ट्रिक बसों सहित 200 नई बसें खरीदी जाएंगीं। एचआरटसी की क्षेत्रीय कर्मशाला धर्मशाला तथा शिमला के ढली व लक्कड़ बाजार बस स्टैंड को स्मार्ट सिटी योजना के तहत विकसित करने का कार्य शुरू किया जाएगा। हिमकेयर योजना के तहत पांच लाख रूपये का निशुल्क बीमा मुख्यमंत्री ने बजट में बुजुर्गों के लिए हिमकेयर योजना के तहत पांच लाख रूपये का निशुल्क बीमा करवाने का एलान किया है। इसके तहत वर्ष 2021-22 में 70 साल से अधिक आयू के सभी लोगों तथा बाल आश्रमों में रहे रहे अनाथ बच्चों को बिना अंशदान दिए हिम केयर योजना में शामिल किया जाएगा। मानदेय बढ़ौतरी प्रदेश में सेवाएं दे रहे पीजी छात्रों, जूनियर रैजिडेंट, सीनियर रैजिडेंटर, डीएम/एमसीएच छात्रों के मानदेय में पांच हजार रूपये प्रतिमाह बढ़ाने की घोषणा की। कोरोना काल में अपना बहुमूल्य योगदान देने पर आशा वर्कर के मानदेय में 750 रूपये प्रतिमाह बढ़ाया गया हैं। छात्रों की डाइट मनी दोगुनी हुई मुख्यमंत्री ने छात्रों की डाइट मनी को दोगुणा करने का ढलान किया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य में ब्लाक, जिला व राज्य सतर पर स्कूलों की विभिन्न प्रतियोगिताओं के प्रतिभागियों के लिए डाईट मनी ब्लाॅक स्तर पर 50 रूपये बढ़ाकर 100 रूपये, जोनल व जिला स्तर पर 60 रूपये से बढ़ाकर 120 रूपये और राज्य स्तर पर 75 रूपये से बढ़ाकर 150 रूपये प्रतिदिन प्रति छात्र की जाएगी। हिन्दुस्थान समाचार/उज्जवल/सुनील