himachal-voting-begins-for-municipal-corporation-nagar-panchayat-and-panchayat-elections
himachal-voting-begins-for-municipal-corporation-nagar-panchayat-and-panchayat-elections
हिमाचल-प्रदेश

हिमाचल : नगर निगम, नगर पंचायत और पंचायत चुनाव के लिए मतदान शुरू

news

शिमला, 07 अप्रैल (हि.स.)। हिमाचल प्रदेश में चार नगर निगमों, छह नगर पंचायतों और 136 पंचायत प्रधानों के चुनाव के लिए बुधवार सुबह आठ बजे से मतदान शुरू हो गया है। मतदान अपराह्न 4 बजे तक चलेगा। अपराह्न 4 बजे से 5 बजे तक कोरोना संक्रमित वोटर मत डाल सकेंगे। मतदान के तुरन्त बाद मतों की गिनती होगी और देर शाम तक चुनाव परिणाम घोषित कर दिए जाएंगे। कोरोना के बीच हो रहे इन चुनावों में लगभग 3 लाख,13 हजार मतदाता अपने मताधिकार का इस्तेमाल करेंगे। मतदान के प्रति लोगों में काफी उत्साह दिखाई दे रहा है। कई मतदान केंद्रों के बाहर सुबह से ही मतदाताओं की कतार देखने को मिल रही है। वहीं दूसरी ओर, प्रत्याशियों के दिल की धड़कन बढ़ी हुई है। धर्मशाला, सोलन, पालमपुर और मंडी नगर निगमों के 64 वार्डों और छह नगर पंचायतों के 44 वार्डों के लिए वोट डाले जा रहे हैं। इसके अलावा पंचायत चुनाव में शिमला के टूटू ब्लॉक की 34, चौपाल ब्लॉक की 48 और मंडी के धर्मपुर ब्लॉक की 54 पंचायतों में प्रधान के पदों के लिए मतदान चल रहा है। इस दौरान कोरोना से निपटने के लिए खास इंतजाम किए गए हैं। राज्य निर्वाचन आयोग के अनुसार मतदान के लिए 536 मतदान केंद्र बनाए गए हैं। नगर निगम चुनाव में इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन, जबकि नगर पंचायत व पंचायत प्रधानों के चुनाव में मतपत्रों का इस्तेमाल किया जा रहा है। बता दें कि चार नगर निगमों के चुनाव पर सबकी नजरें टिकी हुई हैं। इनमें सोलन, पालमपुर औऱ मंडी नए नगर निगम बने हैं, वहीं धर्मशाला नगर निगम में कार्यकाल पूरा होने पर चुनाव हो रहे हैं। चारों नगर निगमों में पार्टी चिह्नों पर चुनाव होने के कारण दोनों प्रमुख दलों भाजपा व कांग्रेस के नेताओं की प्रतिष्ठा दांव पर लगी है। चारों नगर निगमों में 275 से अधिक उम्मीदवार अपनी किस्मत आजमा रहे हैं। भाजपा ने जहां अपने वरिष्ठ मंत्रियों व तेजतर्रार नेताओं को चुनाव में जीत का जिम्मा सौंपा है, वहीं कांग्रेस में भी अनुभवी नेताओं पर जीत का सारा दारोमदार है। भाजपा की तरफ से महेन्द्र सिंह, राकेश पठानिया, बिक्रम सिंह और राजीव बिंदल चुनाव प्रभारी हैं, तो कांग्रेस में यह जिम्मा कौल सिंह, जीएस बाली, सुखविंद्र सुक्खू और राजेंद्र राणा सम्भाल रहे हैं। हालांकि इन चुनावों में बागी व निर्दलीय भी दोनों दलों की मुश्किलें बढ़ा सकते हैं। हिन्दुस्थान समाचार/उज्ज्वल/ प्रभात ओझा