fir-registered-on-viral-anonymous-letter-regarding-allegations-against-himachal-minister
fir-registered-on-viral-anonymous-letter-regarding-allegations-against-himachal-minister
हिमाचल-प्रदेश

हिमाचल के मंत्री पर आरोपों को लेकर वायरल गुमनाम पत्र पर एफआईआर दर्ज

news

शिमला, 14 जून (हि.स.)। हिमाचल प्रदेश के एक कैबिनेट मंत्री पर भ्र्ष्टाचार के आरोप को लेकर गुमनाम पत्र लिखने पर शिमला की साइबर पुलिस ने आईटी एक्ट में मामला दर्ज कर लिया है। एफआईआर में किसी को नामजद नहीं किया गया है। साइबर पुलिस पत्र लिखने वाले और इसे सोशल मीडिया में वायरल करने वाले शख्स का पता लगाएगी। एसपी साइबर क्राइम संदीप धवल ने एफआईआर दर्ज होने की पुष्टि की है। दरअसल पिछले कुछ समय से सोशल मीडिया पर वायरल गुमनाम पत्र चर्चा का विषय बना हुआ है। पत्र में मंत्री पर भ्र्ष्टाचार के आरोप के अलावा उनके चरित्र पर भी अंगुली उठाई गई है। बताया जाता है कि गुमनाम पत्र भाजपा केंद्रीय नेतृत्व को भेजा गया है और इसे सोशल मीडिया पर भी वायरल किया गया। अचानक से गुमनाम पत्र के वायरल होने से राज्य में सियासी तूफान मच गया था। पिछले दिनों मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने गुमनाम पत्र को लेकर कड़ी प्रतिक्रिया देते हुए इसे विकृत मानसिकता वाले लोगों की साजिश करार देते हुए इस मामले में एफआईआर दर्ज करने के संकेत दिए थे। मुख्यमंत्री ने कहा था कि इस तरह के आरोपों और फर्जी तरह के वायरल बताए जा रहे पत्र का कोई आधार नहीं होता। पत्र केवल किसी की छवि और चरित्र खराब करने की मंशा से ही वायरल किये जातें है। उन्हाेंने मीडिया से बातचीत करते हुए कहा था कि फर्जी पत्र जारी करने वालाें काे खाेज निकालेंगे और इसके पीछे की साजीश काे बेनकाब किया जाएगा। मुख्यमंत्री के मुताबिक ऐसी चिठियाँ लिखने वाले का मकसद केवल नुकसान पहुंचाना हाेता है। उन्हाेंने कहा कि अगर शिकायतकर्ता के पास किसी के खिलाफ सबूत हो तो वह सामने आकर दम दिखाए। ऐसी बदनाम करने वाले साजिश कर्ता को सरकार हरगिश भी नहीं छाेड़ेगी, उसे कहीं से भी ढूंढ निकलेगी। सरकार ऐसे लोगों काे पहले भी ढूंढ कर कानून के हवाले कर चुकी है। चरित्रहनन की साजिश रचने वालों के खिलाफ सख्त कार्यवाही की जाएगी। हिन्दुस्थान समाचार/उज्ज्वल/सुनील