जिला सिरमौर के किसान फाल आर्मी वोर्म कीड़े से मक्की की फसल को बचाने लिए भरते सावधानी
जिला सिरमौर के किसान फाल आर्मी वोर्म कीड़े से मक्की की फसल को बचाने लिए भरते सावधानी
हिमाचल-प्रदेश

जिला सिरमौर के किसान फाल आर्मी वोर्म कीड़े से मक्की की फसल को बचाने लिए भरते सावधानी

news

नाहन, 29 जुलाई (हि. स.)। जिला सिरमौर के किसान फाल आर्मी वोर्म कीड़े से मक्की की फसल को बचाने के लिए सावधानी भरते यह जानकारी कृषि उप निदेशक सिरमौर डॉ0 बलदेव पराशर ने दी। उन्होंने बताया कि सिरमौर में लगभग 24000 हेक्टेयर भूमि पर मक्का की खेती की जाती है जिससे लगभग 58750 मीट्रिक टन उत्पादन प्राप्त होता है। इस वर्ष फाल वोर्म नामक कीड़े के प्रकोप के कारण जिला सिरमौर में मक्की की खेती करने वाले किसान दिक्कत का सामना कर रहे हैं। विशेषज्ञों के अनुसार जिला सिरमौर के निचले इलाकों में तथा गिरिपार वाले क्षेत्र में इस कीट का अधिक प्रकोप देखने को मिल रहा है और अभी तक लगभग 4000 हेक्टेयर मक्की की फसल में खेत के बीच में ही स्थानीय पैच के रूप में 10 से 15 प्रतिशत पौधे इस कीड़े से ग्रसित पाए गए है । पराशर ने बताया कि यह कीड़ा दक्षिण अमेरिका में पाया जाता था परन्तु कुछ वर्ष पहले यह अफ्रीकी देशों से होते हुए कर्नाटक और वहां से उत्तरी पूर्वी राज्यों में पहुँचने के बाद अब उतरी भारत के राज्यों में भी पहुंच गया है। यह जलवायु परिवर्तन और खादों के असंतुलित उपयोगों के कारण हुआ है और नत्रजन के ज्यादा उपयोग करने के कारण पौधों की रोगों और कीटों से लड़ने की प्रतिरोधक क्षमता खत्म हो जाती है जिस कारण विभिन्न किस्म के रोग और कीड़े फसलों को नुक्सान पहुंचाते हैं। हिन्दुस्थान समाचार /जितेंद्र/सुनील-hindusthansamachar.in