आक्सीजन की पर्याप्त आपूर्ति सुनिश्चित करना पहली प्राथमिकता: जय राम ठाकुर

आक्सीजन की पर्याप्त आपूर्ति सुनिश्चित करना पहली प्राथमिकता: जय राम ठाकुर
ensuring-adequate-supply-of-oxygen-is-the-first-priority-jai-ram-thakur

शिमला, 07 (हि.स.)। राज्य सरकार की पहली और महत्वपूर्ण प्राथमिकता स्वास्थ्य चिकित्सा के उद्देश्य से आक्सीजन की पर्याप्त आपूर्ति सुनिश्चित करना है ताकि आक्सीजन के कारण किसी को परेशानी न झेलनी पड़े। यह बात शुक्रवार को मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने शिमला से वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से राज्य के आक्सीजन उत्पादकों को सम्बोधित करते हुए कही। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य में आक्सीजन का उत्पादन सरप्लस है, लेकिन आक्सीजन के परिवहन के लिए हमें सिलेंडरों की आवश्यकता है। जय राम ठाकुर ने कहा कि आक्सीजन उत्पादकों को राज्य में आक्सीजन का अधिकतम उत्पादन सुनिश्चित करना चाहिए ताकि इसका उपयोग कर मानव जीवन को बचाया जा सके। उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार ने राज्य के लिए 15 मीट्रिक टन तरल मेडिकल आक्सीजन का कोटा निर्धारित किया है। राज्य सरकार ने इसे बढ़ाकर 30 प्रतिशत मीट्रिक टन करने का केन्द्र सरकार से आग्रह किया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार आईजीएमसी के आक्सीजन प्लांट की उत्पादन क्षमता को 20 मीट्रिक टन तक बढ़ाएगी। उन्होंने कहा कि इससे राज्य के सबसे बड़े अस्पताल में आक्सीजन की आपूर्ति पर्याप्त मात्रा में सुनिश्चित होगी। उन्होंने कहा कि राज्य में अन्य आक्सीजन प्लांटों की उत्पादन क्षमता को भी बढ़ाने के प्रयास किए जाएंगे। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने केन्द्र सरकार से मांग को पूरा करने के लिए राज्य को डी-टाइप के 5000 और बी-टाइप के 3000 सिलेंडर उपलब्ध करवाने का आग्रह किया है। जय राम ठाकुर ने कहा कि राज्य में स्थित सभी आक्सीजन संयंत्रों को राज्य सरकार बिजली की पर्याप्त और निर्बाध आपूर्ति सुनिश्चित करेगी ताकि आक्सीजन की कमी न हो और आक्सीजन का उत्पादन सुचारू रूप से चले। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार निजी आक्सीजन उत्पादकों के विभिन्न मुददों पर सहानुभूतिपूर्वक विचार करेगी और उन्हें समय पर भुगतान सुनिश्चित करेगी। हिन्दुस्थान समाचार/सुनील