मंडी के डॉ. चमन बने फ्लाइंग ऑफिसर, एयर फोर्स स्टेशन तांबाराम चेन्नई मे गरिमापूर्ण समारोह में मिला रेंक

मंडी के डॉ. चमन बने फ्लाइंग ऑफिसर, एयर फोर्स स्टेशन तांबाराम चेन्नई मे गरिमापूर्ण समारोह में मिला रेंक
dr-chaman-of-mandi-became-flying-officer-got-rank-in-a-dignified-ceremony-at-air-force-station-tambaram-chennai

मंडी कॉलेज में पत्रकारिता एवं जनसंचार विभाग के अध्यक्ष हैं प्रतिभाशाली डॉ.चमन मंडी 20 जून (हि. स.)। वल्लभ राजकीय महाविद्यालय मंडी के पत्रकारिता व जनसंचार विभागाध्यक्ष सहायक प्रोफेसर डॉ चमन लाल ने भारतीय थल सेना व वायु सेना के कठिन सैन्य प्रशिक्षण के बाद फ्लाइंग ऑफिसर बनने में कामयाबी हासिल कर ली है।एयर फोर्स स्टेशन तांबाराम चेन्नई (तमिलनाडु) मे गरिमापूर्ण पासिंग आउट परेड समारोह मे ग्राउंड इनस्ट्रकटर स्कूल के कमांडिंग ऑफिसर ग्रुप कैप्टन एमके रमेश ने डा. चमन के कंधों पर वायुसेना के फ्लाइंग ऑफिसर के रैंक लगाए व सैन्य प्रशिक्षण को सफलतापूर्वक संपन्न करने के लिए प्रमाणपत्र प्रदान किया। उनकी इस कामयाबी से समूचे प्रदेश और विशेषकर मंडी जिला में खुशी की लहर दौड़ गई है। बीती सात फरवरी से लेकर 11 जून तक दो चरणों के कठिन सैन्य प्रशिक्षण के दौरान शारीरिक व मानसिक प्रतियोगिताओं व परिक्षाओं मे उत्कृष्ट प्रदर्शन करने के बाद डॉ चमन को भारतीय वायुसेना के फ्लाइंग ऑफिसर का रैक प्रदान किया गया। पासिंग आउट समारोह व सैन्य प्रशिक्षण कोर्स नंबर 46 सीनियर डिवीजन प्री- कमीशन प्रशिक्षण मे भाग लेने वालों में डॉ चमन एकमात्र हिमाचली थे। फ्लाइंग ऑफिसर बनने के बाद डॉ चमन हिमाचल प्रदेश एयर स्क्वाड्रन एनसीसी कुल्लू मे बतौर प्रशिक्षित एएनओ अपनी सेवाएं देंगे। इसके साथ ही फ्लाइंग ऑफिसर डॉ चमन प्रदेश के सबसे बड़े व इतिहासिक महाविद्यालय मंडी की एनसीसी एयर विंग के पहले प्रशिक्षित एएनओ बने। वल्लभ राजकीय महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ राकेश शर्मा ने इस मौके पर कहा कि डॉ चमन का फ्लाइंग ऑफिसर बनना महाविद्यालय व प्रदेश के लिए गौरव का विषय है। फ्लाइंग ऑफिसर डॉ चमन के नेतृत्व मे वल्लभ राजकीय महाविद्यालय मंडी के एनसीसी कैडेट्स ने राष्ट्रीय व अंतराष्ट्रीय स्तर पर महाविद्यालय का नाम रोशन किया है। महाविद्यालय के कैडट युवा आदान-प्रदान कार्यक्रम में कजाकिस्तान, वियतनाम, बांग्लादेश व रूस मे महाविद्यालय व देश का प्रतिनिधित्व कर चुके है। उन्होंने कहा कि प्रतिवर्ष गणतंत्र दिवस परेड दिल्ली और भारतीय सेनाओं मे बतौर कमीशन्ड ऑफिसर कैडटो का चयन होने के पीछे फ्लाइंग ऑफिसर डॉ चमन के मार्गदर्शन व महेनत का नतीजा है। हिन्दुस्थान समाचार/मुरारी/सुनील