तिब्बती बस्तियों में बढ़ते कोरोना संक्रमण के चलते 10 मई से एक सप्ताह का पूर्ण लाॅकडाउन : डा. सांग्ये

तिब्बती बस्तियों में बढ़ते कोरोना संक्रमण के चलते 10 मई से एक सप्ताह का पूर्ण लाॅकडाउन : डा. सांग्ये
complete-lockdown-of-one-week-from-may-10-due-to-rising-corona-infection-in-tibetan-settlements-dr-sangye

धर्मशाला, 07 मई (हि.स.)। निर्वासित तिब्बती सरकार के प्रधानमंत्री डा. लोबसांग सांग्ये ने तिब्बती समुदाय में बढ़ते कोरोना संक्रमण के मामलों और कोरोना की तीसरी लहर के बड़े खतरे को देखते हुए 10 मई से एक सप्ताह के लिए भारत स्थित तिब्बती बस्तियों में पूर्ण लाॅकडाउन का आह्वान किया है। मीडिया से बातचीत में डा. सांग्ये ने कहा कि हमें अब जिस चीज की जरूरत है वह श्रृंखला को तोड़ने के लिए सामूहिक और समन्वित प्रयास हैं। वास्तविक रूप से भारत की 60 प्रतिशत आबादी के टीकाकरण में कम से कम दो साल लगेंगे। इस दृष्टि से आने वाले सप्ताह व महीने बहुत महत्वपूर्ण हैं। उन्होंने कहा कि भारत सरकार के एक शीर्ष वैज्ञानिक सलाहकार ने बीते बुधवार को चेतावनी दी है कि देश अनिवार्य रूप से कोविड-19 की तीसरी लहर का सामना करेगा। यह तीसरी लहर का पैमाना और प्रभाव काफी विनाशकारी हो सकता है। उन्होंने कहा कि कोरोना की इस चेन को तोड़ने के लिए तीन चीजें करने की जरूरत है। पहला टीकाकरण, दूसरा पूर्ण लॉकडाउन है जो श्रृंखला को तोड़ने के लिए है और तीसरा, आत्म-नियामक सावधानियां हैं। मास्क पहनना और सामाजिक दूरी अपनी सुरक्षा के साथ-साथ दूसरों के लिए भी सुरक्षा क्वच हो सकता है। डा. सांग्ये ने कहा कि निर्वासित तिब्बती सरकार के धर्मशाला स्थित मुख्यालय में भी कोरोना तेजी से पैर पसार रहा है। बीते मंगलवार को धर्मशाला में तिब्बतियों के कुल 164 मामलों में 60 से अधिक निर्वासित तिब्बती प्रशासन के कर्मचारी संक्रमित पाए गए हैं। इस सप्ताह अभी तक तीन लोगों की मृत्यु हो गई। इस बीच, सिक्यॉन्ग ने स्वास्थ्य विभाग, सीटीए के परामर्श के माध्यम से अपने संबंधित न्यायालयों में सभी व्यस्कों के लिए टीकों की खरीद के लिए प्रयास शुरू करने के लिए निपटान कार्यालयों पैन इंडिया से एक तत्काल अपील जारी की। उन्होंने कहा कि काशग ने पहले ही प्रयास शुरू कर दिए हैं, हालांकि जीओआई रोलआउट में कटौती जारी है। उन्होंने सीटीए की बचत से पहले से ही खर्च किए गए छह करोड़ के अलावा, कोविड प्रबंधन और भारत भर की बस्तियों में राहत और आवंटन के लिए एक करोड़ रुपये के अतिरिक्त बजट की घोषणा की। भारत और नेपाल में पिछले एक सप्ताह में कुल मिलाकर 484 नए मामले और आठ मौतें हुई हैं। जिसमें अब तक 2934 संक्रमण के मामले और 61 मौतें हो चुकी हैं। हिन्दुस्थान समाचार/सतेंद्र/सुनील