केंद्र से जल्द कोरोना वैक्सीन की व्यवस्था करवाएं मुख्यमंत्री : बाली

केंद्र से जल्द कोरोना वैक्सीन की व्यवस्था करवाएं मुख्यमंत्री : बाली
chief-minister-should-arrange-corona-vaccine-soon-from-the-center-bali

धर्मशाला, 02 मई (हि.स.)। पूर्व मंत्री एवं कांगे्रस के वरिष्ठ नेता जीएस बाली ने 18 साल से उपर के लोगों का टीकाकरण शुरू नही हो पाने पर सरकार की कार्यप्रणाली पर सवाल खड़े किए हैं। रविवार को जारी प्रेस बयान में कांगे्रस नेता ने कहा कि केंद्र सरकार की घोषणानुसार पहली मई से पूरे देश में 18 साल से ऊपर की आयु वाले नागरिकों का टीकाकरण होना था। अब पता चला है कि अभी हिमाचल टीकाकरण शुरू नहीं हो रहा है, क्योंकि सरकार के पास वैक्सीन उपलब्ध नहीं है। यह काम अब मात्र पंजीकरण तक सीमित रह गया है। उन्होंने कहा कि केंद्र में भी भाजपा की सरकार है और हिमाचल प्रदेश में भी भाजपा की सरकार है। इस डबल इंजन की सरकार द्वारा घोषणानुसार टीकाकरण की व्यवस्था न करने के कारण सरकार की कार्यप्रणाली पर सवाल खड़े होते हैैं। सरकार इस महामारी के दौर में भी झूठ बोलने से नहीं हट रही है। सरकार तैयारी किए बिना ही घोषणाएं कर रही है। जयराम सरकार और केंद्र सरकार इस महामारी को रोकने की जगह पहले चुनावों और रैलियों में व्यस्त रही और अब लोगों को अपने हाल पर छोड़ दिया है। बाली ने कहा कि ईश्वर की कृपा है कि हिमाचल प्रदेश के हालात अन्य प्रदेशों जैसे बुरे नहीं हैं और सरकार ने अतिरिक्त बिस्तरों, वेंटीलेटरों व ऑक्सीजन की व्यवस्था की है, लेकिन प्रदेश में हजारों संक्रमित व्यक्ति होम आइसोलेशन में हैं। उनके पास ऑक्सीमीटर नहीं है, जिससे वे अपना ऑक्सीजन लेवल देख सकें। उन्होंने कहा कि जानकारी मिली है कि आज प्रदेश में मात्र सात से आठ हजार ऑक्सीमीटर अपलब्ध हैं। गत एक साल से ज्यादा समय से यह महामारी फैल रही है लेकिन सरकार ने न तो इस गंभीर, जानलेवा बीमारी से निपटने के लिए कारगर कदम उठाए और न ही आवश्यक दवाइयों, ऑक्सीजन, अतिरिक्त बिस्तरों, वेंटीलेटरों और ऑक्सीमीटर इत्यादि की पर्याप्त व्यवस्था की। उन्होंने कहा कि जोकि ऑक्सीमीटर 600 रुपये में मिलता था वह आज छह हजार रुपये में मिल रहा है। प्रदेश सरकार को चाहिए था कि वह समय रहते कम से कम 40 से 50 हजार ऑक्सीमीटर खरीदने के लिए आवश्यक कदम उठाती। जीएस बाली ने मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर से आग्रह किया है कि वह केंद्र सरकार के सक्षम प्रभाव के साथ पक्ष रखते हुए इंजेक्शन की व्यवस्था करवाएं। हिन्दुस्थान समाचार/सतेंद्र/सुनील