हमीरपुर और चम्बा चिकित्सा महाविद्यालयों को मिले आक्सीजन संयंत्र, मुख्यमंत्री ने किया लोकार्पण

हमीरपुर और चम्बा चिकित्सा महाविद्यालयों को मिले आक्सीजन संयंत्र, मुख्यमंत्री ने किया लोकार्पण
chief-minister-inaugurated-oxygen-plant-at-hamirpur-and-chamba-medical-colleges

शिमला, 09 मई (हि. स.)। मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने रविवार को शिमला से वर्चुअल माध्यम से पण्डित जवाहर लाल नेहरू राजकीय चिकित्सा महाविद्यालय चम्बा और डाॅ. राधाकृष्णन राजकीय चिकित्सा महाविद्यालय हमीरपुर में प्रैशर स्विंग ऐड्साॅप्र्शन (पीएसए) आक्सीजन संयंत्रों का लोकार्पण किया। चम्बा के संयंत्र की क्षमता 400 पीएलएम और हमीरपुर के संयंत्र की क्षमता 300 पीएलएम है। मुख्यमंत्री ने कहा कि ये दोनों संयंत्र इन चिकित्सा महाविद्यालयों में भर्ती मरीजों को निर्बाध रूप से आक्सीजन की आपूर्ति पूरी करेंगे। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार ने केन्द्र सरकार के समक्ष प्रदेश के वर्तमान आक्सीजन के कोटे को 15 मीट्रिक टन से बढ़ाकर 30 मीट्रिक टन करने का आग्रह किया है ताकि प्रदेश की बढ़ती आक्सीजन आवश्यकता को पूरा किया जा सके। केन्द्र सरकार ने पहले से ही प्रदेश के लिए 13 आक्सीजन संयंत्र स्वीकृत किए हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश सरकार ने राज्य के लिए पांच हजार डी-टाइप और तीन हजार बी-टाइप के आक्सीजन सिलेण्डर उपलब्ध करवाने का मामला केन्द्र सरकार के समक्ष रखा है ताकि प्रदेश में आक्सीजन की बढ़ती मांग को पूरा किया जा सके और आक्सीजन की निर्बाध आपूर्ति बनी रहे। जय राम ठाकुर ने कहा कि डाॅ. राधाकृष्णन राजकीय चिकित्सा महाविद्यलय हमीरपुर में एक करोड़ रुपये की लागत से निर्मित पीएसए प्लांट 30 बिस्तरों वाले समर्पित कोविड वार्ड में निर्बाध आक्सीजन की आपूर्ति सुनिश्चित करेगा। उन्होंने कहा कि यह वार्ड तीन माह के रिकार्ड समय में स्थापित किया गया है और मरीजों को निर्बाध आक्सीजन आपूर्ति प्रदान करने के लिए इसे 300 एलपीएम पीएसए प्लांट से जोड़ा गया है। इस अवसर पर वित्त एवं काॅरपोरेट मामले राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर ने राज्य सरकार द्वारा कोविड-19 मरीजों को आक्सीजन की सुचारू आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए उठाए गए कदमों की सराहना की। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार इस महामारी से लड़ने के लिए राज्य सरकार को हर सम्भव सहायता प्रदान कर रही है। हिन्दुस्थान समाचार/सुनील/उज्जवल