कोरोना के बिगड़े हालात में कुशल नेतृत्व के प्रतीक बने मुख्यमंत्री : नैहरिया

कोरोना के बिगड़े हालात में कुशल नेतृत्व के प्रतीक बने मुख्यमंत्री : नैहरिया
chief-minister-became-a-symbol-of-efficient-leadership-in-the-deteriorating-condition-of-corona-naihariya

धर्मशाला, 11 जून (हि.स.)। धर्मशाला सेभाजपा विधायक विशाल नैहरिया ने कहा कि देश भर सहित देवभूमि हिमाचल प्रदेश में कोरोना की दूसरी लहर के कारण बिगड़ रहे हालातों पर मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर के कुशल नेतृत्व के कारण कुछ ही समय में काबू पा लिया गया है। नैहरिया ने कहा कि मुख्यमंत्री ने हालातों पर हर दिन नजर बनाकर अभी से ही संभावित तीसरी लहर के लिए भी प्रदेश में स्वास्थ्य सुविधाओं को सुदृढ़ बनाने पर काम शुरू कर दिया है। जिसमें शुरूआती दौर में ही प्रदेश में बच्चों के लिए विशेष रूप से 100 वेंटिलिटर का प्रबंध करने के दिशा-निर्देश जारी कर दिए गए हैं। शुक्रवार को जारी प्रेस बयान में विधायक विशाल नैहरिया ने कहा कि कोरोना की दूसरी लहर से निपटने में मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। विधायक ने कहा कि इस मुश्किल हालात के बीच स्वास्थ्य सुविधाओं को पूरी तरह से सुदृढ़ किया और हर व्यक्ति को बेहतरीन स्वास्थ्य सुविधाएं प्रदान की गई हैं। इतना ही नहीं ऐसे बिगड़े हालातों में सबसे पहले खुद जिम्मा संभालते हुए हर वर्ग के साथ मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर खड़े हैं। मुख्यमंत्री ने जिला कांगड़ा में ही पालमपुर के समीप राधा स्वामी सत्संग भवन परौर में 250 बेड सहित प्रदेश भर में एक हजार अतिरिक्त बेड शुरू किए गए। जिससे छोटा राज्य होने के बाबजूद अधिक केस होने पर भी हिमाचल में एक भी मरीज को बिना बेड व ऑक्सीजन के नहीं रहना पड़ा। विधायक ने कहा कि जिस समय प्रदेश में 40 हजार कोरोना एक्टिव केस पहुंच चुके थे, मुख्यमंत्री ने हर विधानसभा क्षेत्र के प्रतिनिधि की जिम्मेदारी तय करते हुए कोरोना संजीवनी किट का आगाज किया। हिन्दुस्थान समाचार/सतेंद्र/सुनील