affection-found-in-kinnaur-will-be-remembered-for-lifetime-bandaru-dattatreya
affection-found-in-kinnaur-will-be-remembered-for-lifetime-bandaru-dattatreya
हिमाचल-प्रदेश

किन्नौर में मिला स्नेह आजीवन याद रहेगा : बंडारू दत्तात्रेय

news

शिमला, 20 फरवरी (हि.स.)। राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय ने किन्नौर जिले के अपने दो दिवसीय प्रवास को यादगार क्षण बताते हुए कहा कि जनजातीय लोगों के स्नेह, सौम्य स्वभाव और आतिथ्य से वह प्रभावित हुए हैं, जिसे वह आजीवन नहीं भूल सकते। उन्होंने प्रसन्नता व्यक्त की है कि किन्नौर जिले के लोग देश व प्रदेश में उच्च पदों पर कार्यरत हैं लेकिन क्षेत्र का समग्र विकास भी जरूरी है जिसके लिए शिक्षा का प्रसार, अधोसंरचना विकास व संस्कृति का संरक्षण किया जाना चाहिए। राज्यपाल शनिवार को किन्नौर जिले के अंतर्गत ग्राम पंचायत पूह में लोगोें को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने लड़कियों की शिक्षा पर बल देते हुए लोगों से आहवान किया कि लड़कियों की पढ़ाई से ही परिवार और समाज आगे बढ़ेगा। दत्तात्रेय ने कहा कि वन, जमीन व पानी पर निश्चित तौर पर हमारा अधिकार है लेकिन इनका संवर्धन व संरक्षण प्राथमिकता से किया जाना चाहिए। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में देश आज तेजी से विकास के पथ पर अग्रसर है। केंद्र सरकार ने ऐसी अनेक योजनाएं कार्यान्वित की हैं जिनका लाभ समाज के हर वर्ग और हर क्षेत्र को मिलना चाहिए। उन्होंने कहा कि पंचायती राज संस्थाओं के नव निर्वाचित प्रतिनिधि सरकार द्वारा चलाई जा रही इन योजनाओं का लाभ उठाकर क्षेत्र के विकास में अहम योगदान दें। इस मौके पर पूह पंचायत के प्रधान राजेश कुमार ने राज्यपाल का स्वागत किया। राज्यपाल ने पंचायती राज संस्थाओं के प्रतिनिधियों से बातचीत की और उनकी समस्याओं को सुना। इस मौके पर, सांस्कृतिक कार्यक्रम भी प्रस्तुत किया गया। इससे पूर्व, राज्यपाल को 136 इंडीपेंडेंट इंफैंटरी ब्रिगेड के जवानों ने ‘गार्ड ऑफ आनर’ दिया। उन्होंने ब्रिगेड के उच्च अधिकारियों व सैनिकों से भी बातचीत की। भारत तिब्बत सीमा पुलिस की 17वीं वाहिनी ने शुक्रवार सायं रिकांगपिओ में राज्यपाल को सम्मानित किया। उन्होंने राज्यपाल को आई.टी.बी.पी की चीन से लगती 120 किलोमीटर सीमा में तैनाती से जुड़ी जानकारी से अवगत करवाया। राज्यपाल ने सैनिकोें से बातचीत कर उनका हौसला बढ़ाया। उन्होंने सैनिकों के जज़्बे को सलाम करते हुए कहा कि पूरा देश उनके साथ है और हमें अपने सैनिकों पर गर्व है। हमारे सैनिक तमाम विपरीत परिस्थितियों के बावजूद हर समय देश की सीमाओं की सुरक्षा के लिए समर्पित रहते हैं और इन्हीं की वजह से देशवासी खुली हवा में सांस ले पाते हैं। हिन्दुस्थान समाचार/उज्ज्वल/सुनील