मंत्री द्वारा किया जा रहा प्रोटोकॉल का उलंघन पर हो कार्रवाई : कौल सिंह ठाकुर

मंत्री द्वारा किया जा रहा प्रोटोकॉल का उलंघन पर हो कार्रवाई : कौल सिंह ठाकुर
action-should-be-taken-on-violation-of-protocol-being-done-by-the-minister-kaul-singh-thakur

मंडी, 09 जून (हि. स.)। कांग्रेस वरिष्ठ नेता व पूर्व मंत्री ठाकुर कौल सिंह ने मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर की बीजेपी सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि जो सरकार कोविड -19 प्रोटोकॉल के नियम बना रही है, और उसी सरकार के मंत्री द्वारा नियमों की खुलेआम धज्जियां उड़ाने में लगे हैं। उन्होंने कहा कि जैसे पूर्व मुख्यमंत्री शांता कुमार ने भी कहा है कि कोरोना संक्रमण के दौरान को सरकार के मंत्रियों को जनता के बीच में जाने से बचना चाहिए। क्योंकि नेताओं की जनसभा से कोरोना प्रदेश में बड़ रहा है और लोगों की जाने जा रही है । शांता ने यह भी कहा था कि मंत्रियों को ऑफिस में बैठकर कार्य करने चाहिए । ठाकुर कौल सिंह ने कहा कि मंडी जिले से मंत्री ठाकुर महेंद्र सिंह जोगिंदर नगर व द्रंग में जगह -जगह 8-10 गाडय़िों के काफिले के साथ पुलिस एसएचओ की गाड़ी एस्कोर्ट करते हुए चल रहे हैं। उन्होंने कहा कि कोविड -19 के चलते प्रदेश में लॉकडॉउन लगा हुआ है धारा 144 लागू होते हुए मंत्री महेंद्र सिंह 50-100 लोगों को इकठ्ठा कर जनसभा कर कोविड -19 प्रोटोकॉल के नियमों को धज्जियां उड़ा रहे हैं । कौल सिंह ने कहा कि कोरोना की तीसरी लहर की आशंका बनी हुई है । जिसमें ब्लैक फंगस जैसी बीमारी से बच्चों को भी खतरा बताया जा रहा है। सरकार के यह मंत्री तीसरी लहर फैलाने का काम कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि जिला उपायुक्त व एसपी से फोन कर पूछा है कि क्या मंत्री महेंद्र सिंह को कोविड -19 प्रोटोकॉल में छूट की इजाजत दी है , या जिला मंडी में धारा 144 हटा दी गई है ,उपायुक्त व एसपी मंडी के ध्यान में यह मामला पहुंचाया है। मगर उन्होंने कहा कि अभी उनके संज्ञान में इस तरह की कोई जानकारी नहीं है । कौल सिंह ने मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर से पूछा है कि क्या कांग्रेस भी ऐसी जनसभाएं कर सकते हैं। कांग्रेस वरिष्ठ नेता ठाकुर कौल सिंह ने मुख्यमंत्री से मांग की है कि कोविड़ -19 प्रोटोकॉल के नियमों का उलंघन करने पर सरकार के मंत्री पर कार्रवाई की जाए। पूर्व मंत्री ठाकुर कौल सिंह ने कहा कि उनके वक्त में 25 करोड़ रुपए की एक पानी की स्कीम पंजौड़ नाले में लगभग पूरी बनाई गई थी । लेकिन चौहार घाटी वाइल्ड लाईफ एरिया होने के कारण कुछ पाइपें जोडऩे का काम बचा था । महेंद्र सिंह कोविड नियमों का उलंघन कर गांव - गांव जा कर उस पानी की योजना का झूठा श्रेय लेने की कोशिश कर रहा है । क्योंकि महेंद्र सिंह खुद को मंडी के लोकसभा उपचुनाव का उम्मीदवार घोषित कर चुका है। हिन्दुस्थान समाचार/मुरारी/सुनील